छत्तीसगढ़: ”रामवन गमन परिपथ” योजना में सीतामढ़ी-हरचौका और रामगढ़ भी शामिल

वनवास के दौरान भगवान राम ने कोरिया जिले से ही छत्तीसगढ़ में प्रवेश किया था. भरतपुर तहसील के जनकपुर में स्थित सीतामढ़ी-हरचौका को उनका पहला पड़ाव माना जाता है.