गलवान घाटी में झड़प के दौरान पांच-पांच चीनी सैनिकों से लड़ा था एक-एक भारतीय जवान

यह भी बताया जा रहा है कि चीन ने भारतीय सैनिकों का पता लगाने के लिए थर्मल इमेजिंग ड्रोन का भी इस्तेमाल किया था. सरकारी सूत्रों ने कहा, "हमारी याद में यह चीनी सेना द्वारा भारतीय सेना के जवानों पर किया गया सबसे घातक हमला था."