Lockdown में शराब-गुटखा पर रोक से तस्करों के छूटे पसीने, बना ‘जोखिम’ का ‘डबल-रेट’

शराब तस्करों से हुई पूछताछ के दौरान पता चला कि, लॉकडाउन (Lockdown) में बिक्री पूरी तरह बंद होते ही, उसकी डिमांड बेतहाशा बढ़ गयी. सरकारी दुकान वालों का स्टॉक लॉकडाउन से ठीक पहले बंद (closed) कर दिया गया. ऐसे में कारोबार से जुड़े कुछ लोगों काफी फायदा हुआ है.