90 दिनों बाद खुले दक्षिणेश्वर काली मंदिर के कपाट, थर्मल स्कैनिंग और सैनिटाइजेशन के बाद एंट्री

कुछ श्रद्धालुओं (Devotees) ने कहा कि भगवान के सामने कोरोना (Coronavirus) का कोई डर नहीं है. वहीं, अन्य भक्तों का कहना है कि विज्ञान (Science) और श्रद्धा को एक ही नजर से नहीं देखा जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस धर्म या रंग नहीं देखता.