43 साल पहले परिवार से बिछड़ गई थी महिला, Google और WhatsApp की मदद से मिली दादी

इसरार खान (Israr Khan) ने बताया कि पिछले महीने 4 मई को, लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान खान परिवार एक साथ बैठा था. उस समय अच्चन मौसी (Achchhan Mausi) ने जो कुछ भी कहा उसे खान ने अपने मोबाइल फोन में रिकॉर्ड कर लिया.