रतन टाटा का मिशन गरिमा: “न मंत्री, न ही पुलिसवाला…पर मेरा बाबा देश चलाता है”

23 मिलियन आबादी वाले मुंबई शहर में केवल 50,000 व्यक्ति सफाई कर्मचारी के रूप में कार्यरत हैं. वे हर एक दिन मुश्किल परिस्थितियों में काम कर रहे हैं ताकि मुंबई कचरे की भारी मात्रा से निपट सके.