बैन के बाद भी पॉर्न वेबसाइट्स कर रहीं खिलवाड़, भारत में हुई वापसी

दुनिया की जानी-मानी पॉर्न वेबसाइट RedTube और PornHub भारत में एक्सेस करना पॉसिबल हो गया है. ये पॉर्न वेबसाइट्स मल्टीपल स्क्रीन्स पर ऐक्सेसिबल हैं.
adult websites, बैन के बाद भी पॉर्न वेबसाइट्स कर रहीं खिलवाड़, भारत में हुई वापसी

कुछ बड़ी पॉर्न वेबसाइट्स ने भारत में वापसी कर ली है. जिसके चलते भारत में पॉर्न वेबसाइट्स पर लगाया गया बैन फेल होता नजर आ रहा है. यूजर्स के लिए स्मार्टफोन और कंप्यूटर पर पॉर्न कॉन्टेंट को ऐक्सेस करना मुमकिन हो गया है.

गौरतलब है कि DOT (डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकम्यूनिकेशन्स) ने देश की इंटरनेट सर्विस लाइसेंसीज को पॉर्न वेबसाइट्स को बंद करने का ऑर्डर दिया था. जिसके बाद साल 2015 में भारत सरकार ने 857 पॉर्न वेबसाइट्स को अनैतिक और अश्लील कॉन्टेंट की वजह से बैन कर दिया था.

दुनिया की जानी-मानी पॉर्न वेबसाइट RedTube और PornHub भारत में एक्सेस करना पॉसिबल हो गया है. इन वेबसाइट्स का डोमेन बदलकर खेल किया जा रहा है. पॉर्नहब .org के साथ एक्सेसेबल है तो वहीं रेडट्यूब की वेबसाइट .net पर अवेलेबल है.

.org प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल ज्यादातर नॉन-प्रॉफिट ऑर्गनाइजेशन और .net का इस्तेमाल एक्सटेंशन नेटवर्क के लिए के लिए किया जाता है. बैन करने के लिए .com डोमेन वाली वेबसाइट्स को टारगेट किया गया था. यही वजह है कि पॉर्न वेबसाइट्स .com की बजाय .org या .net वाले डोमेन को अपना रही हैं.

ये पॉर्न वेबसाइट्स मल्टीपल स्क्रीन्स पर ऐक्सेसिबल हैं. इसके लिए किसी तरह के VPN (वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क), मैंडेटरी ब्राउजर्स, प्रॉक्सी जैसे तरीकों की जरूरत नहीं होती.

बता दें कि DOT के आदेश के बाद पिछले साल दिसंबर में जियो, वोडाफोन और एयरटेल जैसी टेलिकॉम कंपनियों ने पॉर्न और चाइल्ड पॉर्न दिखाने वाली वेबसाइट्स को बैन किया था.

देश के जाने-माने साइबर लॉ एक्सपर्ट पवन दुग्गल के मुताबिक भारत में साइबर सिक्यॉरिटी के कड़े कानून लागू किए जाने चाहिए.

Related Posts