Airtel ने मानी ऐप में सुरक्षा खामी की बात, खतरे में था करोड़ों यूजर्स का डेटा

एयरटेल के प्रवक्ता का कहना है कि अब इस कमी को दूर कर लिया गया है.

देश की बड़ी टेलिकॉम ऑपरेटर कंपनी एयरटेल ने शनिवार को अपने ऐप में सुरक्षा खामी की बात स्वीकार की. दरअसल एयरटेल ऐप के एप्लिकेशन प्रोग्राम इंटरफेस में बग की जानकारी मिली थी जिससे हैकर्स नंबरों के जरिए यूजर्स की निजी जानकारी चुरा सकते थे.

इस बग की वजह से करोड़ों यूजर्स के नाम, मेल आईडी, जन्मदिन और अड्रेस लीक होने का खतरा था. फिलहाल ऐसा कोई डेटा लीक होने की रिपोर्ट नहीं है. एयरटेल के प्रवक्ता ने कहा कि इस बग की समस्या को कंपनी ने सुलझा लिया है. ग्राहकों की प्राइवेसी हमारी प्राथमिकता है इसलिए हम उसकी सुरक्षा के लिए सबसे अच्छा समाधान खोजते हैं.

टेलिकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) के मुताबिक सितंबर 2019 तक एयरटेल के उपभोक्ताओं की संख्या 32.50 करोड़ थी. वोडाफोन-इंडिया और रिलायंस जियो के बाद यह सबसे ज्यादा उपभोक्ताओं वाली कंपनी है.

फिलहाल भारत में डेटा सुरक्षा को लेकर कोई कानून नहीं है. इसी साल अक्टूबर में जस्ट डायल ऐप के एपीआई में भी बग आया था जिसकी वजह से ऐप के 15  करोड़ यूजर्स का डेटा लीक हुआ. इस समय डेटा प्राइवेसी इंटरनेट जगत के लिए चिंता का सबब बना हुआ है.