Android की इस खामी का फायदा उठाकर Hackers आपका बैंक अकाउंट कर सकते हैं साफ

पिछले दिनों हैकर्स ने 60 अलग-अलग बैंकों को अपना निशाना बनाया.

मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम की दुनिया में गूगल एंड्रॉइड का सिक्का चलता है. तकरीबन 2.5 बिलियन मशीनें एंड्रॉइड पर काम कर रही हैं. यही वजह है कि हैकर्स एंड्रॉइड को अक्सर निशाना बनाकर यूजर्स को चूना लगाने की ताक में रहते हैं. ताजे मामले में हैकर्स ने कई यूजर्स का बैंक अकाउंट खाली कर दिया.

नॉर्वे की मोबाइल सिक्योरिटी फर्म ने एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम की एक खामी का पता लगाया है जिसके जरिए जालसाज यूजर्स के बैंक अकाउंट को निशाना बना सकते हैं. रिसर्च करने वालों ने मल्टीटास्किंग सिस्टम में स्ट्रैंडहॉग नाम का लूपहोल खोजा है जिसके जरिए हैकर्स मालवेयर्स का इस्तेमाल करके यूजर के लॉगिन पासवर्ड, लोकेशन, मैसेज और प्राइवेट डेटा चुरा सकते हैं.

ऐसे होती है जालसाजी

हैकर्स मैलिशश ऐप को यूजर के फोन तक पहुंचाते हैं और एंड्रॉइड बग का फायदा उठाते हुए फोन में मौजूद ऐप्स को कंट्रोल कर लेते हैं. यूजर्स को झांसा देकर उनसे कई तरह की परमिशन ले लेते हैं. यूजर के फोन पर आने वाले OTP, फोटो, वीडियो, सोशल मीडिया और बैंकिंग अकाउंट लॉगिन डीटेल्स भी हैकर्स के हाथ लग जाते हैं. प्रोमोन ऐप सिक्योरिटी फर्म के सीटीओ टॉन हैंसन के मुताबिक इस बग के जरिए हैकर्स ने 60 अलग-अलग बैंकों को अपना निशाना बनाया.

बचाव का तरीका

जालसाजी से बचने का तरीका ये है कि बिना जांच परख के कोई भी ऐप अपने फोन में न इंस्टॉल कर लें. प्ले स्टोर से ही ऐप इंस्टॉल करें और उससे पहले चेक कर लें कि वह ऑथेंटिक और गूगल वेरिफाइड है या नहीं. थर्ड पार्टी ऐप से दूर रहें.