एपल स्मार्टवॉच की बैटरी में आई गड़बड़ी, यूजर ने दायर किया मुकदमा

आईफोन की बैटरी से जुड़े मामले को लेकर दुनियाभर में आलोचना झेलने के बाद टेक की दिग्गज कंपनी एपल एक बार फिर विवादों में फंसती नजर आ रही है.

नई दिल्ली: गैजेट्स और स्मार्टफोन बनाने के मामले में सबसे महंगा और विश्वसनीय ब्रांड एपल आजकल चर्चा में है. बुरी बात ये एपल से जुड़ी ये चर्चा किसी नए आईफोन के लॉन्च की नहीं बल्कि इसके बैटरी ड्रा-बैक की वजह से है. हाल ही में एपल के कस्टमर ने इस कंपनी के ऊपर केस दर्ज किया है. मामला है एपल स्मार्टवॉच की बैटरी फूलने का.
हो रहे विवादों के मुताबिक कंपनी ने स्मार्टवॉच की बैटरी गर्म होने और स्क्रीन फूलने की दिक्कत को जानबूझ कर नजरअंदाज किया है.

ये मामला है यूएस की न्यू जर्सी डिस्ट्रिक्ट कोर्ट का. जिसमें एक स्मार्टवॉच कस्टमर ने कंपनी को फ्रॉड बताया है. कस्टमर ने अक्टूबर 2017 में एपल सीरीज 3 स्मार्टवॉच खरीदी, जिसके एक साल बाद जुलाई 2018 में चार्जिंग के दौरान वॉच की स्क्रीन अचानक से बाहर निकल आई और स्क्रीन में दरार भी आ गई. यूजर ने स्क्रीन को सही करने की कोशिश, लेकिन तब तक वॉच काम करना बंद कर चुकी थी. कस्टमर ने कहा कि इस तरह की घटनाओं को दुर्घटनाओं का रूप देने में कंपनी का हाथ है. इसके साथ ही कंपनी ने स्मार्टवॉच की डिस्काउंट वारंटी देने से भी माना किया था.

चर्चा में आया ये मुकदमा कोई पहला मामला नहीं है. इससे पहले भी एपल स्मार्टवॉच के कस्टमर्स ने इस मुसीबत को झेला है, जिन्हें बतौर सबूत पेश किया गया है. इतना ही नहीं बहुत से कस्टमर्स को स्मार्टवॉच से जलने और गर्म होने जैसी मुसीबतों का सामना भी करना पड़ा है. पिछले साल भी फोन में किए गए ओएस अपडेट्स के बाद बैटरी पर उल्टा असर देखने को मिला था, जिसकी वजह से फोन की बैटरी फूल गई थी.

इस खामी के चलते एपल की नेक्स्ट जनरेशन की स्मार्टवॉच के लिए जापान डिस्प्ले इंक OLED स्क्रीन तैयार करेगी, जिसे साल के अंत तक लॉन्च किया जा सकता है. फिलहाल तक जापान डिस्प्ले इंक कंपनी सिर्फ आईफोन एक्स के लिए एलसीडी स्क्रीन बना रही थी.