Apple डिवाइस में बग ढूंढने वाले को मिलेगा 7 करोड़ का इनाम, कंपनी दे रही बड़ा मौका

Apple की तरफ से सिक्योरिटी रिसर्चर्स को स्पेशल 'dev'आईफोन भी दिया जाएगा जोकि कंपनी के iOS सिक्योरिटी रिसर्च डिवाइस प्रोग्राम का हिस्सा होंगे.

नई दिल्ली: जानमानी कंपनी Apple इन दिनों बग बाउंटी प्रोग्राम चला रही है, जिसके तहत अगर कोई इंडिपेंडेंट रिसर्चर iOS में किसी तरह की टेक्निकल फाल्ट का पता लगाता है, तो उसे इनाम जीतने का मौका मिलेगा. इस प्रोग्राम के जरिए कंपनी को कई खतरनाक बग्स का पता लगाने में मदद मिली है.

कंपनी ने दूसरे प्रॉडक्ट्स के लिए भी इस प्रोग्राम को जारी करने का फैसला किया है. इसके लिए कंपनी काफी पैसा खर्च करने की तैयारी में है.

एथिकल हैकर्स पिछले काफी सालों से Apple के इस प्रोग्राम को लेकर चिंतित हैं. उनके मुताबिक ये प्रोजेक्ट सिर्फ iOS प्लेटफॉर्म के लिए है, जिसकी वजह से रिसर्चर्स पैसे की चाह में दूसरे एपल प्लेटफॉर्म पर ढूंढे गए टेक्निकल इशूज को डार्क वेब पर बेच सकते हैं, जोकि सिक्योरिटी को लेकर खतरनाक हो सकता है.

Apple के सिक्योरिटी इंजिनियरिंग के हेड ने लास वेगास में आयोजित ब्लैक हैट सिक्यॉरिटी कांफ्रेस में ऐलान किया कि कंपनी इस बग के बाउंटी प्रोग्राम का विस्तार करेगी. iOS प्रोग्राम के साथ ही कंपनी अब नया बग-बाउंटी प्रोग्राम शुरू करेगी, जिसके तहत रिसर्चर macOS, tvOS, watchOS और iCloud प्लेटफॉर्म्स पर भी टेक्निकल इशूज ढूंढने का मौका पा सकेंगे. साथ ही बतौर इनाम कैश भी जीत सकेंगे.

प्रोग्राम में चेंजेस लाने के बाद कंपनी ने इनाम की राशि भी बढ़ा दी है. अब रिसर्चर्स को बग खोजने पर 200,000 डॉलर से बढ़ाकर 1 मिलियन डॉलर की इनामी राशि दी जाएगी. यानी कि अगर आप iPhone या MacBook जैसे Apple के किसी प्रोडक्ट में खास बग ढूंढ लेते हैं तो आप 7 करोड़ रुपये का इनाम जीत सकते हैं.

Apple की तरफ से सिक्योरिटी रिसर्चर्स को स्पेशल ‘dev’आईफोन भी दिया जाएगा जोकि कंपनी के iOSसिक्योरिटी रिसर्च डिवाइस प्रोग्राम का हिस्सा होंगे. इसके जरिए प्रोग्रामर्स iPhone के सॉफ्टवेयर को हायर डिग्री के साथ ऐक्सेस कर सकेंगे, जिससे iPhone की सिक्योरिटी बढ़ाई जा सकेगी.

ये भी पढ़ें- WhatsApp यूजर्स सावधान! हैक करके बदले जा सकते हैं आपके मैसेज