एपल पर दर्ज हुआ 7,000 करोड़ का मुकदमा, टीन-एज को बताया था चोर

ऑसमेन के मुताबिक उस पर बहुत सारे झूठे आरोप लगाए गए, जिसकी वजह से वो काफी तनाव में रहा.

हाल ही में एक टीन-एज लड़के पर एपल ने चोरी का गलत आरोप लगाया, इस वजह से लड़के ने कंपनी पर 1 बिलियन लगभग 7,000 करोड़ रुपये का मुकदमा दायर किया है. लड़के के मुताबिक कंपनी के फेस-रिकग्नीशन सॉफ्टवेयर ने उसे एपल स्टोर से चोरी करते हुए डिटेक्ट किया था.

18 साल के इस लड़के का नाम ऑसमेन है. लड़के को न्यूयार्क स्थित घर से एपल स्टोर से चोरी करने के इल्जाम में गिरफ्तार किया गया. ऑसमेन के मुताबिक अरेस्ट वारेंट में मौजूद फोटो उसकी नहीं है. यहां तक की चोरी हुआ सामान जिस दिन गायब हुआ उस दिन वो स्टोर में गया ही नहीं, इस दौरान वो किसी दूसरे फंक्शन में शरीक हुआ था.

ऑसमेन ने बताया कि कुछ दिनों पहले उसने बिना फोटो वाला एक आईदी कार्ड खो दिया था, जिसे चोरी कर लिया गया. असली चोर ने ऑसमेन के आईडी कार्ड का गलत तरीके से इस्तेमाल किया है. इसी बात का रिजल्ट है कि गलती से एपल के फेस-डिटेक्ट सिस्टम में ऑसमेन का नाम असली चोर के चेहरे से मेल ख गया.

एपल और इसकी सिक्योरिटी इंडस्ट्री ने इस मामले में फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.