Whatsapp के जरिए दोस्तों को न भेजें पोर्न, हो सकती है जेल

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आदेश दिया है देश के सभी साइबर क्राइम थानों में चाइल्ड पोर्न के मामलों पर गंभीरता दिखाते हुए त्वरित कार्रवाई की जाए.

चाइल्ड पोर्नोग्राफी पर रोक लगाने के मामले में केंद्र सरकार ने सख्ती दिखाई है. अब अगर आपने इससे जुड़ा कोई भी वीडियो या फोटो किसी और को भेजा तो आपको जेल जाना पड़ सकता है.

केंद्र सरकार ने इसका जिम्मा नेशनल क्राइम फॉर मिसिंग एंड एक्सप्लोइटिड चिल्ड्रन (NCMEC) को सौंपा है, जिसके मुताबिक इंटरनेट पर चाइल्ड पोर्न ढूंढने और दूसरों के साथ इसे शेयर कर पर आपका फोन या कंप्यूटर रडार पर लिया जाएगा. ये एजेंसी देशभर में नजर रखने में सक्षम है, अगर आप चाइल्ड पोर्न से जुड़ी कोई भी सामग्री इंटरनेट पर ढूंढते हैं, डाउनलोड करते हैं या किसी दूसरे को भेजते हैं तो आप पर मामला दर्ज किया जाएगा.

उत्तराखंड में एक शख्स के ऊपर पोर्नोग्राफी का पहला मुकदमा दर्ज हुआ है. शख्स का नाम NCMEC की नेशनल क्राइम रिपोर्टिंग ब्यूरो (NCRB) रिपोर्ट में था, जिसमें चाइल्ड पोर्नोग्राफी से जुड़े मामलों का जिक्र किया गया था. किशन सिंह नाम का ये शख्स अल्मोड़ा का रहने वाला है, जिसपर उत्तराखंड स्टेट साइबर क्राइम पुलिस ने मामला दर्ज किया है.

किशन सिंह इंटरनेट से चाइल्ड पोर्न डाउनलोड कर सोशल साइट्स जैसे, फेसबुक और वाट्सएप के जरिए अपने दोस्तों को भेजता था. इसपर देहरादून पुलिस ने कार्रवाई के निर्देश दिए.

आईटी एक्ट की धारा 67 B के तहत चाइल्ड पोर्न के केस में मुकदमा दर्ज किया जाता है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आदेश दिया है देश के सभी साइबर क्राइम थानों में इस तरह के मामलों पर गंभीरता दिखाते हुए त्वरित कार्रवाई की जाए.

ये भी पढ़ें-   

मिलिट्री पुलिस में 100 महिलाओं की एंट्री, बुलेट ट्रेन से लेकर ट्रक तक चलाना सीखेंगी

सोशल मीडिया पर छाए AAP के memes-videos, जानें किसकी है ये क्रिएटिविटी