exposure-of-mobile-radiation, मोबाइल रेडिएशन फैला रहे ये स्मार्टफोन कहीं आपके पास भी तो नहीं हैं?
exposure-of-mobile-radiation, मोबाइल रेडिएशन फैला रहे ये स्मार्टफोन कहीं आपके पास भी तो नहीं हैं?

मोबाइल रेडिएशन फैला रहे ये स्मार्टफोन कहीं आपके पास भी तो नहीं हैं?

exposure-of-mobile-radiation, मोबाइल रेडिएशन फैला रहे ये स्मार्टफोन कहीं आपके पास भी तो नहीं हैं?

नयी दिल्ली
आपको वैरिएबल और कांस्टेंट का फंडा तो पता होगा. मैथ की बेसिक चीज है. इसे लोगों की जिंदगी से कनेक्ट किया जाए तो आपका स्मार्टफोन कांस्टेंट है और बाकी के काम वैरिएबल. जैसे कि आप खाना खा रहे हैं, मूवी देख रहे हैं, चाय पी रहे हैं या कुछ और आपके एक हाथ में फोन जरुर होता है. कुल मिलाकर आप एडिक्ट हो चुके हैं.

जिस फोन को आपने अपनी डेली रुटीन में कांस्टेंट बना लिया है, वो फोन बिना म्यान की तलवार रखने से कम नहीं है. स्टेटिस्टा रिसर्च इंस्टिट्यूट की रिपोर्ट के मुताबिक मानव शरीर के लिए 0.60 वाट/किलोग्राम से ज्यादा रेडिएशन खतरनाक होता है, लेकिन हम जो स्मार्टफोन इस्तेमाल कर रहे हैं उनसे निकल रहा रेडिएशन इसका दोगुना या इससे भी ज्यादा है.

इस रिसर्च रिपोर्ट में एमआई ए वन स्मार्टफोन सबसे आगे है, जोकि 1.75 वाट/केजी रेडिएशन फेंकता है. यही नहीं महंगी कीमत चुकाकर हाथ आए आईफोन 7 और 8 लगातार नौवे और चौदहवे नंबर हैं.

exposure-of-mobile-radiation, मोबाइल रेडिएशन फैला रहे ये स्मार्टफोन कहीं आपके पास भी तो नहीं हैं?

रेडिएशन का असर इतना भयानक होता है कि लोगों में कैंसर जैसी बीमारियां बढ़ रही हैं, इसके अलावा मेल फर्टिलाइजेशन में भी कमी आ रही है. डब्लूएचओ की एक रिपोर्ट के अनुसार फोन का ज्यादा इस्तेमाल दिमागी सेल्स को कमजोर बनाता है.

जब आप फोन खरीदने जाते हैं तो फोन की रैम साइज, कैमरा, बैटरी बैक-अप, इन्टरनल मेमोरी हर चीज परखते हैं. जो बहुत जरूरी है मगर आप भूल जाते हैं, या शायद आपको पता नहीं है, वो है SAR (स्पेसिफिक अब्सोर्पशन रेट) वैल्यू. SAR वैल्यू फोन के बॉक्स में ही लिखी होती है, जो बताती है, कि फोन का रेडिएशन कितना है. कुछ हवा-हवाई बातें ये भी कही जाती हैं कि फोन पर *#07# टाइप करने से SAR वैल्यू का पता चलता है, लेकिन इससे स्क्रीन पर जो आंकड़े दिखाई देते हैं, उनके गलत होने के चांस बहुत ज्यादा हैं.

जानिए कैसे आप मोबाइल रेडिएशन को कम कर सकते हैं.

अब बात आती है कि रेडिएशन वगैरह तो ठीक है, मगर जो फोन की लत है सो है. आज के जमाने में फोन बिना कुछ होता भी तो नहीं है. तो भईया फोन छोड़ नहीं सकते, लेकिन कम तो कर सकते हैं ना. फोन पर लंबे समय तक बातचीत के लिए हेडफोन लगा सकते हैं, अच्छे फोन कवर का इस्तेमाल कर सकते हैं, कुछ नहीं तो फोन खरीदते वक़्त SAR जांच सकते हैं.

exposure-of-mobile-radiation, मोबाइल रेडिएशन फैला रहे ये स्मार्टफोन कहीं आपके पास भी तो नहीं हैं?
exposure-of-mobile-radiation, मोबाइल रेडिएशन फैला रहे ये स्मार्टफोन कहीं आपके पास भी तो नहीं हैं?

Related Posts

exposure-of-mobile-radiation, मोबाइल रेडिएशन फैला रहे ये स्मार्टफोन कहीं आपके पास भी तो नहीं हैं?
exposure-of-mobile-radiation, मोबाइल रेडिएशन फैला रहे ये स्मार्टफोन कहीं आपके पास भी तो नहीं हैं?