जियो प्लेटफॉर्म्स में 9.99 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के लिए फेसबुक को मिली मंजूरी

कहा जा रहा है कि इस डील से करीब तीन करोड़ दुकानदारों को लाभ मिलेगा. रिलायंस इंडस्ट्रीज के मुताबिक जियो प्लेटफॉर्म्स (Jio Platforms) में अब तक 11 इन्वेस्टमेंट के ऐलान किए जा चुके हैं.
Facebook Stake Acquisition, जियो प्लेटफॉर्म्स में 9.99 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के लिए फेसबुक को मिली मंजूरी

भारत के फेयर ट्रेड रेगुलेटर कॉम्पिटिशन कमिशन ऑफ इंडिया (CCI) ने बुधवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) में 9.99 फीसदी हिस्सेदारी हासिल करने के लिए फेसबुक को मंजूरी दे दी. ये हिस्सेदारी रिलायंस के जियो प्लेटफॉर्म्स (Jio Platforms)के लिए है. फेसबुक के निवेश के बाद जियो प्लेटफॉर्म्स का वैल्यूएशन करीब 4.75 करोड़ रुपए हो जाएगा.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

डाक्यूमेंट्स के मुताबिक फेसबुक ये अधिग्रहण एक नई संस्था, जादू होल्डिंग्स एलएलसी के जरिए करेगी. CCI ने एक ट्वीट के जरिए जियो प्लेटफॉर्म्स में फेसबुक की हिस्सेदारी को मंजूरी दी है.

कहा जा रहा है कि इस डील से करीब तीन करोड़ दुकानदारों को लाभ मिलेगा. साथ ही इससे ग्राहकों को भी फायदा पहुंचेगा, जोकि घर के पास किसी स्थानीय दुकान से रोजाना ऑर्डर कर सकेंगे और उन्हें अच्छा डिजिटल ट्रांजेक्शन प्लेटफॉर्म मिल जाएगा.

Jio Platforms में अब तक 11 निवेश

रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) के मुताबिक जियो प्लेटफॉर्म्स (Jio Platforms) में अब तक 11 इन्वेस्टमेंट के ऐलान किए जा चुके हैं. सिल्वर लेक (Silver Lake) ने 4.90 लाख करोड़ रुपये की मूल्य इक्विटी पर जियो प्लेटफार्म्स में 5 हजार 655 करोड़ रुपये के निवेश का ऐलान किया है. वहीं अबू धाबी (Abu Dhabi) की इंवेस्टमेंट कंपनी मुबाडला (Mubadala) ने जियो में 9093.60 करोड़ के इंवेस्टमेंट की घोषणा की है. इसके बदले मुबाडला को रिलायंस जियो में 1.85% की हिस्सेदारी मिलेगी. मुबाडला में जियो प्लेटफॉर्म्स की इक्विटी वैल्यू 4.91 लाख करोड़ रुपए और एंटरप्राइज वैल्यू 5.16 लाख करोड़ रुपए आंकी है.

जियो के 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक

जियो (Reliance Jio Infocomm Limited) प्लैटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries Limited) की “फुली ओन्ड सब्सिडियरी” है. ये एक “नेक्स्ट जनरेशन” टेक्नॉलोजी कंपनी है जो भारत को एक डिजिटल सोसायटी बनाने के काम में मदद कर रही है. इसके लिए जियो के प्रमुख डिजिटल एप, डिजिटल ईकोसिस्टम और भारत के नंबर #1 हाइ-स्पीड कनेक्टिविटी प्लेटफॉर्म को एक-साथ लाने का काम कर रही है. रिलायंस जियो इंफोकॉम लिमिटेड, जिसके 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक हैं, वो जियो प्लैटफॉर्म्स लिमिटेड की “होल्ली ओन्ड सब्सिडियरी” बनी रहेगी.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts