Google Maps ने पूरे किए 15 साल, जानें क्या हैं Future Plans

पिचई के मुताबिक गूगल मैप्स का अगला टारगेट है डिजिटल एड्रेस उपलब्ध कराना. उन्होंने बताया कि जिन लोगों का कोई फिजिकल एड्रेस (घर) नहीं होता है, उन्हें जल्द ही गूगल मैप्स के जरिए डिजिटल एड्रेस उपलब्ध कराया जाएगा.

आज कल हाथ में कागज लिए किसी व्यक्ति को पता पूछते हुए सिर्फ बॉलीवुड फिल्मों में ही देखा जा सकता है, क्योंकि गूगल मैप्स (Google Maps) ने लोगों के ऐसे कई कामों को आसान बना दिया है. किसी अंजान जगह जाना हो या आस-पास किसी चीज, जैसे होटल, एटीएम, पेट्रोल पंप की जरूरत हो… तो गूगल मैप्स पर उंगलियां खुद ब खुद चली जाती हैं. इसी गूगल मैप ने आपका साथ निभाते हुए 15 साल पूरे कर लिए हैं.

गूगल मैप्स के 15 साल पूरे होने के जश्न में गूगल के सीईओ सुंदर पिचई ने उनके पसंदीदा वेज बरीडो रेस्टोरेंट की एक लिस्ट शेयर की है. जाहिर सी बात है इसके लिए भी उन्होंने गूगल मेप का ही साहारा लिया है. एक लंबे पोस्ट में सुंदर पिचई ने अपने उन अनुभवों को भी शेयर किया है, जिसमें गूगल मैप्स ने उनकी मदद की है. हालांकि गूगल लगातार अपने एप्स को अपडेट करती रहता है. ऐसे में गूगल मैप्स में भी भविष्य में कई बदलाव देखे जा सकते हैं.

अब सबको डिजिटल एड्रेस देना है अगला टारगेट

पिचई के मुताबिक गूगल मैप्स का अगला टारगेट है डिजिटल एड्रेस उपलब्ध कराना. उन्होंने बताया कि जिन लोगों का कोई फिजिकल एड्रेस (घर) नहीं होता है, उन्हें जल्द ही गूगल मैप्स के जरिए डिजिटल एड्रेस उपलब्ध कराया जाएगा. ये डिजिटल एड्रेस किसी गली या मोहल्ले में प्लाट या मकान के रूप में नहीं, बल्कि अक्षांश और देशांतर (latitude and longitude) कोऑर्डिनेट्स पर आधारित होगा, जिसे कोई भी हासिल कर सकेगा.

डिजिटल एड्रेस मिलने के बाद लोग आसानी से बैंकिंग और इमरजेंसी सेवा तक अपनी पहुंच बना सकते हैं. साथ ही वह डिलिवरी और मेल भी इसके जरिए प्राप्त कर सकते हैं. डिजिटल एड्रेस से लोग अपने व्यापार को भी बिना किसी स्थाई पते के बढ़ा सकते हैं. सुंदर पिचई का कहना है कि अभी ये अपडेट शुरुआती दौर में है, लेकिन इसको लेकर वो काफी उत्साहित हैं.

ये भी पढ़ें: नई हाईटेक क्रूज मिसाइल बना रहा भारत, जद में पूरा पाकिस्‍तान, चीन के कई शहर