IBM ने ‘कूल’ दिखने के चक्‍कर में एक लाख कर्मचारियों को नौकरी से निकाला!

IBM पर उसके ही एक पूर्व कर्मचारी ने केस किया है. कंपनी ने अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि वह उम्र के आधार पर भेदभाव नहीं करती.

नई दिल्‍ली: IBM पर बढ़ती उम्र वाले एक लाख कर्मचारियों को निकालने का आरोप लगा है. अदालत के सामने कंपनी के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने माना है कि कंपनी ने पिछले कुछ सालों में 1 लाख से ज्‍यादा ‘अधेड़’ कर्मचारियों को निकाल दिया. इसके पीछे तर्क था कि IBM को Amazon और Google जैसा ‘कूल’ और ‘ट्रेंडी’ दिखना था.

IBM के पूर्व सेल्‍समैन जोनाथन लैंगली ने यह मुकदमा दायर किया है. द रजिस्‍ट्रार के मुताबिक, कंपनी के HR वाइस-प्रेसिडेंट एलन वाइल्‍ड ने गवाही दी है कि ‘पिछले पांच या ज्‍यादा सालों में 50,000 से 1,00,000 कर्मचारियों को बाहर कर दिया गया.’ इनकी जगह युवाओं को दी गई जैसा कि Amazon, Microsoft, Google और Facebook जैसी कंपनियों में ट्रेंड है.

108 साल पुरानी कंपनी IBM ने कहा है कि वह उम्र के आधार पर भेदभाव नहीं करती. एक बयान में IBM ने कहा, “कंपनी हर साल 50,000 कर्मचारियों को नौकरी देती है और अपनी टीम को ट्रेनिंग देने में 50 मिलियन डॉलर से ज्‍यादा खर्च करती है. हमें रोज 8,000 से ज्‍यादा आवेदन मिलते हैं तो निश्‍चित रूप से IBM की स्‍ट्रेटजी और भविष्‍य को लेकर उत्‍साह है.”

ProPublica ने पिछले साल मार्च में एक इनवेस्टिगेटिव रिपोर्ट प्रकाशित की थी. इसमें दावा किया गया था कि IBM ने पिछले पांच साल में 40 पार कर चुके 20,000 से ज्‍यादा अमेरिका कर्मचारियों को निकाल दिया था.

ये भी पढ़ें

Sony ने बनाया मोबाइल से भी छोटा AC, पहन‍िए और गर्मी में हो जाइए कूल-कूल

फेसबुक पर फर्जी अकाउंट बनाकर मांगे जा रहे पैसे, आप भी हो सकते हैं शिकार

कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म हो चुके हैं हथियारबंद, ‘द ग्रेट हैक’ का खुलासा

मोबाइल के ज्यादा इस्तेमाल से मोटापे, कैंसर और हार्ट अटैक का खतरा: रिसर्च