सुंदर पिचाई अब Alphabet के भी CEO, 900 बिलियन डॉलर की कंपनी के इकलौते कर्ता धर्ता

सुंदर पिचाई पिछले 15 साल से Google के साथ हैं. उन्‍होंने 2015 में CEO का पद संभाला था और तबसे कंपनी का चेहरा बने हुए हैं.

भारतीय मूल के सुंदर पिचाई ने अहम मुकाम हासिल किया है. दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन Google की पेरेंट कंपनी Alphabet भी अब उनके कंट्रोल में होगी. Alphabet Inc ने मंगलवार को यह ऐलान किया. कंपनी के संस्‍थापक लैरी पेज और सर्जी ब्रिन पूरा कंट्रोल छोड़ रहे हैं. दोनों अब तक कंपनी के चीफ एक्‍जीक्‍यूटिव थे. उन्‍होंने इसके पीछे ‘मैनेजमेंट स्‍ट्रक्‍टर को और सरल करने’ को वजह बताया है.

पिचाई Google के साथ पिछले 15 साल से हैं. उन्‍होंने 2015 में CEO का पद संभाला था और तबसे कंपनी का चेहरा बने हुए हैं. Alphabet दुनिया की सबसे वैल्‍युएबल कंपनीज में से एक है. उसके पास करीब 900 बिलियन डॉलर की मार्केट कैपिटल है.

पेज और ब्रिन ने अपने बयान में कहा है कि “अगर कंपनी को चलाने को बेहतर रास्‍ता है तो हम उनमें से नहीं जो मैनेजमेंट में जमे रहें. Alphabet और Google को दो CEOs और एक प्रेसिडेंट की जरूरत नहीं है.”

दोनों ने अपने ब्‍लॉग पोस्‍ट में लिखा है, “सुंदर Google और Alphabet, दोनों के CEO होंगे. वह Google को आगे बढ़ाएंगे और Alphabet के इनवेस्‍टमेंट्स को मैनेज करेंगे.” Google ने यह चेंज ऐसे समय में किया है जब कंपनी हेल्‍थकेयर और पर्सनल फायनेंस सेक्‍टर में एंट्री कर रही है.

पेज और ब्रिन कंपनियों के बोर्ड में बने रहेंगे. पेज दुनिया की सबसे रईस हस्तियों में शुमार हैं. उन्‍होंने रिन्‍युएबल एनर्जी, एनर्जी एफिशिएंसी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में इनवेस्‍ट कर रखा है. उन्‍होंने एलन मस्‍क की TESLA में भी पैसा लगाया है.

ये भी पढ़ें

Jio के महंगे टैरिफ से पहले ‘बेस्ट प्राइस प्लान’ के साथ करें रिचार्ज, ऑफर सिर्फ 3 दिन