अगर कर रहे हैं पुरानी विंडो का इस्तेमाल, तो हो सकता है बड़ा नुकसान

सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने एक हालिया ब्लॉग पोस्ट के जरिए अपने यूजर्स को विंडो के पुराने वर्जन को अपडेट करने की बात कही है.

नई दिल्ली: ज्यादातर लोग डाटा और स्पेस बचाने के चक्कर में कंप्यूटर सिस्टम की विंडो का अपडेट बंद रखते हैं. कई बार लोग जेनुइन विंडो न होने की वजह से भी ऐसा करते हैं. आपको बता दें कि ऐसा करना आपके डाटा और सिस्टम के लिए हार्मफुल हो सकता है.

माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के मुताबिक इम्पोर्टेन्ट डाटा और कंप्यूटर सिस्टम को सुरक्षित रखने के सिस्टम की विंडो को अपडेट रखना बेहद जरूरी है. कंपनी पहले ही विंडो-7, एक्सपी और विंडोज सर्वर-2003 को सुरक्षित रखने के लिए कदम उठा चुकी है. दरअसल एक्सपी और सर्वर-2003 पहले ही आउट ऑफ सपोर्ट हैं.

कंपनी ने इस संबंध में ब्लॉग के जरिए बताया कि पुरानी विंडो के इस्तेमाल से भविष्य में कोई भी वायरस कंप्यूटर व डाटा को नुकसान पहुंचा सकता है. ये बिल्कुल वैसा ही हो सकता है जैसे साल 2007 में वानाक्राई मालवेयर का असर दुनियाभर में देखा गया.

यही कारण है कि कंपनी ने सिक्योरिटी का तरीका अपनाया है ताकि साइबर क्राइम करने वाला कोई भी व्यक्ति वायरस बनाकर डाटा या सिस्टम को कोई नुकसान न पहुंचा सके और विंडो ऑपरेटिंग सिस्टम सही तरीके से काम करता रहे.

कंपनी ने पोस्ट लिखकर विंडो अपडेट करने संबंधित बात दोहराते हुए कहा कि चाहे एनएलए (नेटवर्क लेवल ऑथेंटिकेशन) लागू हो या नहीं, मगर विंडो अपडेट जल्द से जल्द कर लें.

हालांकि, कंपनी ने यह स्पष्ट किया कि विंडो-8 और विंडो-10 में वायरस संबंधी कोई दिक्कत कम आएगी.