बेहतर सिक्योरिटी फीचर के साथ लॉन्च हुआ Zoom 5.0, एड हुए ये खास फीचर

हाल के दिनों में Zoom ऐप विवादों में भी रहा है. प्राइवेसी के खतरों को लेकर ऐप पर सवाल उठे हैं. गृह मंत्रालय (MHA) की साइबर को-ओरडिनेशन सेंटर की एडवाइजरी के मुताबिक, जूम एक सेफ प्लेटफॉर्म नहीं है.

दुनियाभर के कई देशों में लॉकडाउन (Lockdown) किया गया है और लोगों को घरों में ही रहने को कहा जा रहा है. ऐसे में काफी लोग वीडियो कॉल और वीडियो कांफ्रेंसिंग के लिए Zoom एप का इस्तेमाल कर रहे हैं. इस ऐप ने लोकप्रियता के मामले में टिकटॉक, वाट्सएप को भी पीछे छोड़ दिया. इस ऐप को 5 करोड़ से अधिक बार डाउनलोड किया गया है.

देखिए फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

हालांकि हाल के दिनों में Zoom ऐप विवादों में भी रहा है. प्राइवेसी के खतरों को लेकर ऐप पर सवाल उठे हैं. गृह मंत्रालय (MHA) की साइबर को-ओरडिनेशन सेंटर की एडवाइजरी के मुताबिक, जूम एक सेफ प्लेटफॉर्म नहीं है. विवादों में घिरने के बाद बेहतर सिक्योरिटी फीचर के साथ इस एप का नया अपडेट लॉन्च किया गया है, जिसे Zoom 5.0 नाम दिया गया है.

Zoom 5.0 में क्या है खास?

नए वर्जन में अपग्रेडेड डाटा राउटिंग कंट्रोल (Data routing control), एनक्रिप्शन (Encryption) और होस्ट कंट्रोल (Host control) फीचर दिए गए हैं. जूम ने बीते दिनों में ऐलान किया था कि वो अपने एप में बेटर डाटा प्रोटेक्शन देने के लिए एनक्रिप्शन फीचर्स को अपग्रेड कर रहे हैं. जूम के मुताबिक एप के यूजर इंटरफेस में भी चेंजेस किए गए हैं.

  • एप में पासवर्ड प्रोटेक्शन और अनअथोराइज्ड एक्सेस को परखने के लिए अधिक कंट्रोल दिए गए हैं.
  • नए वर्जन में सबसे खास बदलाव AES 256-bit GCM एनक्रिप्शन स्टैंडर्ड है.
  • सिक्योरिटी फीचर को एक्सेस करने के लिए एक सिक्योरिटी आइकन दिया गया है.
  • एक डिफॉल्ट-ऑन वेटिंग रूम एड किया गया है.
  • क्लाउड रिकॉर्डिंग के लिए पासवर्ड प्रोटेक्शन फीचर जोड़ा है.
  • कॉन्टेक्ट शेयरिंग के लिए अकाउंट को सिक्योर किया गया है.

बता दें कि जूम ऐप हाल ही में Zoombombing का शिकार हुआ है. Zoombombing उस एक्टिविटी को कहते हैं जब अचानक से वीडियो कांफ्रेसिंग के दौरान आपत्तिजनक कंटेंट प्रसारित किया जाने लगता है. जैसे कि हेट स्पीच या पॉर्न वीडियो. एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि जूम ऐप फेसबुक को यूजर्स का डाटा भेज रहा है, खासकर उन यूजर्स के जो फेसबुक इस्तेमाल नहीं करते. कुछ रिपोर्टों में दावा किया गया था कि जूम ऐप का इस्तेमाल कर रहे एपल के मैकबुक यूजर्स के कैमरे को हैकर एक्टिवेट कर सकते हैं.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts