UPI Payments में Axis, HDFC, Yes Bank और SBI से आगे Paytm Bank: रिपोर्ट

PPBL ने SBI, HDFC बैंक और ICICI बैंक सहित कई प्रमुख बैंकों से आगे बढ़कर जनवरी के महीने में 16.9 करोड़ UPI लेनदेन किए.
Paytm Bank, UPI Payments में Axis, HDFC, Yes Bank और SBI से आगे Paytm Bank: रिपोर्ट

पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (PPBL) ने ज्यादातर बैंकिंग क्षेत्र के दिग्गजों की तुलना में UPI लेनदेन के मामले में भारी सफलता दर हासिल की है. इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (Ministry of Electronics and Information Technologies) की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि PPBL, UPI लेनदेन के मामले में एक्सिस (Axis) बैंक, येस बैंक (Yes Bank), HDFC बैंक और भारतीय स्टेट बैंक (SBI) से भी आगे है.

जनवरी 2020 में मंत्रालय ने स्कोरकार्ड जारी किया था, जिसके मुताबिक PPBL में 0.02 फीसदी की सबसे कम तकनीकी गिरावट दर्ज की गई है, जबकि अन्य बैंकिंग दिग्गजों की तकनीकी गिरावट दर काफी रही है, जोकि लगभग एक फीसदी है. यहां पर तकनीकी गिरावट का मतलब यह है कि किसी भी तकनीकी खामी के कारण कितने UPI लेनदेन विफल रहते हैं.

Paytm पेमेंट्स बैंक ने कहा कि यह अच्छे टेक्नोलॉजी इन्फ्रास्ट्रक्चर की बदौलत हुआ है. Paytm पेमेंट्स बैंक के MD और CEO सतीश गुप्ता ने सोमवार को एक बयान में कहा, “हमारा टेक्नोलॉजी स्ट्रक्चर वैश्विक बैंकिंग उद्योग में सबसे अच्छों में से एक है और यह इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के  स्कोरकार्ड में भी सबसे अच्छी तरह से साबित हुआ है.”

PPBL ने SBI, HDFC बैंक और ICICI बैंक सहित कई प्रमुख बैंकों से आगे बढ़कर जनवरी के महीने में 16.9 करोड़ UPI लेनदेन किए. जहां कई बैंक UPI लेनदेन को ज्यादातर थर्ड पार्टी ऐप से संचालित करते हैं, वहीं PPBL देश का एकमात्र बैंक है, जो खुद की प्रणाली से UPI लेनदेन को व्यवस्थित करता है.

PPBL के पास पहले से ही अपने प्लेटफॉर्म पर 10 करोड़ से ज्यादा UPI हैंडल हैं और यह ऑफलाइन रिटेल स्टोर्स पर भी UPI भुगतान के मामले में तेजी लाने में सफल रहा है. कंपनी की सफलता पर गर्व करते हुए गुप्ता ने कहा, “हमारी तकनीकी टीम हमारे यूजर्स को एक सहज और अच्छा अनुभव देने के लिए 24 घंटे काम करती है. हम अपने सहयोगियों के साथ एक विश्वसनीय और लंबे समय तक चलने वाला संबंध बनाते हैं.”

PPBL भारत का सबसे सफल भुगतान बैंक और फंडिंग सोर्स का एक व्यापक मंच बना हुआ है. 10 करोड़ UPI हैंडल के अलावा प्लेटफॉर्म पर तीन करोड़ वॉलेट, 22 करोड़ सेव्ड कार्ड और 5.5 करोड़ बैंक खाते हैं.

Related Posts