SBI खाताधारक हैं तो हो जाइए सावधान, कंपनी ने की ये बड़ी चूक

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी बैंकिंग कंपनी SBI के खाताधारकों के लिए एक बुरी खबर है. दरअसल माडिया रिपोर्टस की मानें तो कंपनी ने अपने खाताधारकों के बैंकिंग डेटा को असुरक्षित रूप से छोड़ दिया है. यह जानकारी कथित रूप से एक ऑनलाइन सर्वर पर मौजूद थी जिसे अब SBI की तरफ से सुरक्षित […]

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी बैंकिंग कंपनी SBI के खाताधारकों के लिए एक बुरी खबर है. दरअसल माडिया रिपोर्टस की मानें तो कंपनी ने अपने खाताधारकों के बैंकिंग डेटा को असुरक्षित रूप से छोड़ दिया है.

यह जानकारी कथित रूप से एक ऑनलाइन सर्वर पर मौजूद थी जिसे अब SBI की तरफ से सुरक्षित बताया जा रहा है. देश भर में 42 करोड़ से ज्यादा खाताधारकों वाले बैंक से ऐसी चूक की उम्मीद नहीं की जा सकती जब देश में  ऑनलाइन फ्राड के मामले इतने बढ़ गए हैं.

TechCrunch की एक रिपोर्ट की मानें तो SBI के इस असुरक्षित सर्वर को मुंबई के एक डेटा सेंटर में रखा गया था और इसमें SBI क्विक के दो महीने के डेटा शामिल थे, जो कंपनी की एक मिस्ड कॉल बैंकिंग सेवा थी. SBI क्विक का दावा है कि वह अपने उपभोक्ताओं को बैंक के साथ अपने खाते के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए एक आसान और गैर-कनेक्टेड तरीका प्रदान करती है. उपभोक्ता अपने बैलेंस, मिनी स्टेटमेंट, चेक बुक के लिए आवेदन इसके जरिए कर सकते हैं.

SBI का यह सर्वर स्पष्ट रूप से पासवर्ड द्वारा संरक्षित नहीं था, इस प्रकार किसी को भी जो किसी प्रकार की जानकारी जुटाना चाहता था जिसमें खाताधारकों के मोबाइल नंबर, खाता संख्या, खाता शेष, लेनदेन और बहुत कुछ जानकारी प्राप्त कर सकता था.

TechCrunch का कहना है कि सर्वर ने खुलासा किया कि बैंक ने उपभोक्ताओं को तीन मिलियन से अधिक टेक्स्ट मैसेज भेजे जो खाताधारकों की निजी जानकारी से समझौता करने के लिए पर्याप्त है.