वायरल के फीवर को कुछ ऐसे रोक रहा सोशल मीडिया

नयी दिल्ली मोबाइल इस्तेमाल करने वाले ज्यादातर लोग अपना खाली समय सोशल मीडिया में बिता देते हैं. फेसबुक, वाट्सएप जैसे तरह तरह के मोबाइल एप आपके फोन में भरे पड़े होते हैं. इनकी बदौलत कोई भी जानकारी बहुत ही कम समय में साझा की जा सकती है. आलम ये है कि कुछ भी वायरल होते […]

नयी दिल्ली
मोबाइल इस्तेमाल करने वाले ज्यादातर लोग अपना खाली समय सोशल मीडिया में बिता देते हैं. फेसबुक, वाट्सएप जैसे तरह तरह के मोबाइल एप आपके फोन में भरे पड़े होते हैं. इनकी बदौलत कोई भी जानकारी बहुत ही कम समय में साझा की जा सकती है. आलम ये है कि कुछ भी वायरल होते देर नहीं लगती है. वायरल होने वाली खबरें दो किस्म की होती हैं, या तो सही या फिर झूठी. झूठी खबरों के वायरल होने के अपने नुकसान होते हैं. कई मौकों पर इस तरह की खबरों ने दंगों और अंधविश्वास जैसी बातों को भी हवा दी.

वायरल होने वाली फेक न्यूज का पैटर्न अमूमन कुछ ऐसा होता है जैसे माता रानी के नौ नामों को आगे फॉरवर्ड नहीं किया तो आपके साथ बहुत बुरा होगा, मैसेज आगे भेजने से टेक्स्ट का रंग बदल जाएगा, पिक्चर पर कमेंट करने से जादू दिखेगा या फिर फोटोशॉप करके फैलाई हुई अफवाहें खूब तूल पकड़ती हैं.

फेक न्यूज के अलावा कुछ ऐसी खबरें भी होती हैं, जिनका वायरल होना खतरनाक साबित हो सकता है. इसमें अडल्ट कंटेंट, किसी की निजी जानकारी, खून-खच्चर से जुड़ी फोटो और वीडियो शामिल हैं. कुछ जानेमाने सोशल मीडिया प्लेटफार्मों ने फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए कमर कस ली है. जानिए क्या कर रहा है सोशल मीडिया – 
• किसी यूजर द्वारा पोस्ट किए गए फेक फैक्ट या लिंक को फेसबुक अपने दूसरे यूजर को एक अलर्ट हेडिंग के साथ दिखाएगा. इस हेडिंग में पोस्ट की गई जानकारी के फेक होने जैसी बात लिखी जाएगी. इसके अलावा फेसबुक एक पोल भी दिखाएगा, जिसके जरिए किसी पोस्ट की वास्तविकता तय की जा सकेगी.
• यूट्यूब ने हाल में वायरल हो रहे कीकी, बर्ड बॉक्स जैसे चैलेंजेस से जुड़े वीडियो हटाने की मुहिम की है. यूट्यूब ने यह कदम इन चैलेंजेस की वजह से हो रहे हादसों को रोकने के लिए उठाया है. 
• फेक न्यूज को रोकने लिए वाट्सएप ने मैसेज फॉरवर्ड करने की लिमिट तय की है. कुछ समय पहले आए वाट्सएप अपडेट के बाद कोई भी मैसेज एक बार में सिर्फ पांच लोगों को ही भेजा सकता है. साथ ही कोई फेक लिंक अगर आपके इनबॉक्स में आता है तो उसका टेस्ट लाल रंग का दिखाया जाता है.