Whatsapp का नया फीचर हुआ रोलआउट, अब गलती करने से बच जाएंगे यूजर

वाट्सएप के स्टेबल अपडेट में ये फीचर जल्द ही यूजर्स को देखने को मिल सकता है. साथ ही पिछले बीटा वर्जन में आए दो फीचर्स को एंड्राइड यूजर्स के लिए नए अपडेटेड वर्जन v2.19.150 में रोलआउट किया गया है.

नई दिल्ली: जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी अपडेट हो रही है, वैसे ही दुनियाभर में सबसे पॉप्युलर मेसेजिंग प्लैटफॉर्म वॉट्सऐप भी अपडेट होता रहता है. वाट्सएप एक बार फिर अपने यूजर्स का ख्याल रखने हुए नया फीचर ऐड करने जा रहा है. इस फीचर के जरिए यूजर गलती से किसी को फोटो भेजने से बच पाएंगे.

होता यूं है कि कई बार हम गलती से कोई फोटो किसी को भेजने की बजाय किसी दूसरे को भेज देते हैं. जाहिर है कि वाट्सएप के ‘डिलीट फॉर एवरीवन’ फीचर के जरिए भेजी गई फोटो को रिसीवर साइड से डिलीट करना मुमकिन है. बावजूद इसके रिसीव हुई तस्वीर यूजर को डिलीट करने से पहले भी देख सकता है. ऐसे में कभी-कभी यूजर को शर्मिंदगी उठानी पड़ती है.
मगर वाट्सएप के नए फीचर की मदद से यूजर ये पहले ही देख सकेंगे कि वो कोई फोटो किसे भेजने जा रहे हैं. इस फीचर की बदौलत अब यूजर को इम्बेरेस नहीं होना पड़ेगा.

वाट्सएप के लेटेस्ट बीटा अपडेट v2.19.173 में यह नया फीचर जोड़ा जाएगा. ये फीचर ग्रुप्स और सिंगल कॉन्टैक्ट्स दोनों के लिए बनाया गया है. इस फीचर के मुताबिक फोटो भेजते वक्त ‘Send’ ऑप्शन से पहले कॉन्टैक्ट या ग्रुप का नाम भी लिखा दिखाई देगा.

बता दें कि इससे पहले वाट्सएप पर फोटो भेजते वक्त केवल बाईं और रिसेंट कॉन्टेक्ट की प्रोफाइल फोटो दिखाई देती थी. वाट्सएप के नए फीचर के आने के बाद अब यह समझने में आसानी होगी कि यूजर फोटो किसको भेजने जा रहा है.

वाट्सएप के स्टेबल अपडेट में ये फीचर जल्द ही यूजर्स को देखने को मिल सकता है. साथ ही पिछले बीटा वर्जन में आए दो फीचर्स को एंड्राइड यूजर्स के लिए नए अपडेटेड वर्जन v2.19.150 में रोलआउट किया गया है. ये दोनों फीचर वॉइस मेसेज और फॉरवर्डिंग इनफॉर्मेशन से जुड़े हैं जोकि सभी एंड्राइड यूजर्स के लिए उपलब्ध हैं.

जैसा कि नाम से ही पता चलता है, कॉन्टिन्यूअस वॉइस मेसेज फीचर आने के बाद यूजर्स को हर ऑडियो नोट को अलग-अलग प्ले करने की जरूरत नहीं है. यूजर को बस पहले वॉइस नोट को प्ले करना होगा, जिसके बाद एक के बाद एक वॉइस मेसेज खुद-ब-खुद प्ले हो जाएंगे.

वहीं दूसरे फीचर फॉरवर्डिंग इन्फर्मेशन की बात करें तो इसके जरिए यूजर्स ये जान पाएंगे कि किसी मेसेज कितनी बार फॉरवर्ड किया गया है. इसकी भी एक कंडीशन है. ये जानकारी किसी को तभी पता चलेगी, जब वो खुद किसी मैसेज को फॉरवर्ड करेगा.