यह फाउन्डिंग मेंबर जल्द ट्विटर को कहेगा अलविदा, 12 साल निभाया साथ

तीन लोगों ने ट्विटर की नींव डाली, कठिन समय में भी कंपनी के साथ टिके रहे, और जब कंपनी चल पड़ी तो कुछ सालों बाद एक ने बना ली दूरी. किसी दूसरे प्रोजेक्ट को वक्त देने के लिए किया अलगाव.

नई दिल्ली: ट्विटर के को-फाउंडर रहे इवान विलियम्स ने कंपनी की बोर्ड मेम्बरशिप से अलग होने का फैसला किया है. वर्तमान में विलियम्स कंपनी के सीईओ पद का कार्यभार संभाल रहे हैं. खबर है कि फरवरी माह के अंत तक विलियम्स इस पद से मुक्त हो जाएंगे.

विलियम्स के ट्विटर मेम्बरशिप से अलग होने की बात उनके इस ट्वीट से पता चलती है.

कंपनी छोड़ने को लेकर विलियम्स का ये कहना है- कंपनी के साथ इतने सालों का वक्त बड़ा ही अच्छा गुजरा, और कंपनी के साथ बीते मेरे समय के दौरान ट्विटर ने जो भी किया है, मुझे उस पर गर्व है. अब मैं अपना समय दूसरे प्रोजेक्ट को दूंगा लेकिन टीम को सपोर्ट करने के मामले में हमेशा साथ रहूंगा.

ट्विटर के साथ विलियम्स का सफर
साल 2006 में इवान विलियम्स, जैक डोरसी और बिज स्टोन तीनों ने मिलकर एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की नींव डाली थी. इस सोशल प्लेटफॉर्म की खासियत थी, 140 शब्दों की पोस्ट लिमिट होना. 2010 तक इवान ने इस प्लेटफॉर्म की बागडोर संभालते हुए, सीईओ, चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर और चेयरमैन के रोल निभाए. इसके बाद 2013 में इस प्लेटफॉर्म को ट्विटर के नाम से पब्लिकली लाइव किया गया.

विलियम्स उस वक्त भी अपनी कंपनी के साथ खड़े रहे, जब फेसबुक के पॉपुलर होने की वजह से ज्यदातर यूजर ट्विटर छोड़ फेसबुक की तरफ चले गए थे. इस दौरान जैक डोरसी भी कंपनी की बोर्ड मेम्बरशिप से अलग हो गए थे, और बाद में 2015 को दोबारा ट्विटर को ज्वाइन किया.

विलियम्स ने एक और ट्वीट के जरिए अपने कलीग्स जैक और बिज को मेंशन करते हुए, कंपनी में साथ काम करने के लिए शुक्रिया अदा किया है.