बच्चों का भला चाहते हैं तो फोन में ये पांच एप डाउनलोड कर लें

ज्यादातर समय गेम खेलने में बर्बाद करने से बेहतर है कि बच्चे उसी समय में कुछ सीख भी सकें और उनका मनोरंजन भी हो जाए.

नई दिल्ली: मोबाइल पाकर बच्चा सब कुछ भूलकर फोन में व्यस्त हो जाता है. फोन भी ऐसा वैसा नहीं स्मार्टफोन और फर्क छोटे-छोटे से बच्चों तक को पता रहता है. अब वो जमाना नहीं रहा, जब बच्चे ‘धूम मचाले’ की धुन वाले नकली फोन पाकर बहल जाते थे. रही बात मां-बाप की तो इधर बच्चा रोता नहीं कि उसे फोन पकड़ा दिया जाता है. गाने, कार्टून, टॉम कैट, टेम्पल रन से लेकर क्या कुछ नहीं आता है स्मार्टफोन में.
लेकिन बात सिर्फ इतनी सी नहीं है, आजकल ब्लू व्हेल, मोमो चैलेंज जैसे अंट शंट गेमों की वजह से बच्चों की जान भी जा चुकी है. इसके अलावा बहुतायत में वयस्कों से जुड़ा कंटेंट इंटरनेट पर मौजूद है, जो बच्चों के हत्थे नहीं पड़ना चाहिए. मगर अनजाने ही सही पैरेंट्स की लापरवाही से अनावश्यक कंटेंट बच्चों तक पहुंच रहा है. देश का भविष्य, समय से पहले भविष्य में पहुंच जाए, ये गलत होगा. बहुत से एप ऐसे हैं जिनमें विज्ञापन के नाम पर ऐसे वीडियो दिखाए जाते हैं, जो अवयस्कों के हित में नहीं हैं. फिर जब बात बच्चों के भले की आती है तो ऐसे एप भी हैं जो सेफ और सिक्योर हैं, साथ ही फायदेमंद भी हैं. अगर आप भी एक जिम्मेदार पैरेंट हैं तो ये एप अपने फोन में जरूर डाउनलोड करें.

1. डुओलिंगो
इस एप्लिकेशन को खासतौर पर भाषा सीखने के उद्देश्य से बनाया गया है, ताकि बच्चे कभी भी कहीं भी स्मार्टफोन के माध्यम से किसी भी भाषा को आसानी से सीख सकें. हिंदी या इंग्लिश दोनों मीडियम के बच्चे इस एप का इस्तेमाल कर सकते है. एंड्राइड फोन, आईओएस के अलावा विंडोज फोन के लिए भी यह एप बिल्कुल मुफ्त में उपलब्ध है. एप में अंग्रेजी के अलावा स्पैनिस, फ्रेंच, जर्मन, इटेलियन, पुर्तगाली, डच, रशियन और टर्किश आदि कुल 16 भाषाएं शामिल हैं. यूजर्स एप में दी गई 16 भाषाओं में से किसी भी का चयन कर सकते हैं. डुओलिंगो एप्लिकेशन में भाषा सीखने के लिए स्पीकिंग, रीडिंग और राइटिंग तीनों ही विकल्प होते हैं, जो कि गेम के फॉर्म में और बहुत ही इंट्रेस्टिंग होते हैं.

2. यू ट्यूब किड्स एप
यह एप ठीक यू ट्यूब की तरह ही है, लेकिन इसे चाइल्ड फ्रेंडली बनाया गया है. यह काफी साधारण एप है और गूगल प्ले स्टोर में फ्री में उपलब्ध है. इस एप के फीचर्स और कंटेंट को बच्चों के हिसाब से कस्टमाइज किया गया है ताकि किसी भी तरह की संदिग्ध सामग्री से बच्चे दूर रहें. इस एप में पैरेंट्स अपने बच्चों के लिए या बच्चे खुद ही वीडियो डिस्कवर कर सकते हैं, चैनल के बारे में जान सकते हैं और प्लेलिस्ट भी देख सकते हैं. इस एप में 80 लाख से अधिक लर्निंग वीडियो मौजूद हैं इसलिए बच्चों को उनके सभी पसंदीदा कंटेंट आसानी से मिल जाते हैं.

3. डॉक्टर पांडा स्कूल
यह एप 5 साल तक के बच्चों के लिए बनाया गया है, और सभी डिवाइस के लिए उपलब्ध है. इस एप के जरिए बच्चे खुद से कहानी बना सकते हैं, कहानी के पात्र और उनकी वेशभूषा भी बच्चे ही तय करते हैं. यह गेम बच्चों को कल्पनाशील बनाने में मददगार है, ताकि बच्चे सिर्फ रट्टू तोता बनकर न रह जाएं बल्कि खुद की सोच बनायें. इसके अलावा यह एप मैथ, आर्ट जैसे अन्य विषयों को समझाने में भी सक्षम है.

4. खानकिड्स
खान अकैडमी बड़े स्तर पर स्टूडेंट्स के लिए अपने शिक्षा पाठ्यक्रम के लिए जाना जाता है, खान अकादमी किड्स इसी का छोटा वर्जन है. इस एप में पढ़ना, लिखना और गणित से जुड़े अभ्यास शामिल हैं. बेहतर और कलरफुल ग्राफिक्स के साथ खेल-खेल में बच्चे इस एप के जरिए बहुत कुछ सीख सकते हैं.

5. बायजूस
बायजूस एक लर्निंग एप है. इस एप में वीडियो के माध्यम से काफी डिटेल में विषयों को समझाया जाता है. सभी क्लासेस के सिलेबस के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं से जुड़ी तैयारियां भी इस एप के माध्यम से की जा सकती हैं. बायजूस वीडियो के अलावा पर्सनलाइज्ड ट्यूटरिंग की सुविधा भी देता है. बायजूस अपने टीचर्स को पढ़ाने के पारंपरिक तरीकों को छोड़ इनोवेटिव तरीकों को अपनाने की ट्रेनिंग देता है, ताकि बच्चे आसानी से चीजों को समझ सकें. इस एप की डाउनलोडिंग बिलकुल फ्री है लेकिन सब्सक्रिप्शन की फीस देनी पड़ती है, जोकि अलग-अलग कोर्सेस के हिसाब से तय है.