कैसे लगेगी इन 59 Chinese Apps पर रोक? जानें पूरी प्रोसेस

यूजर्स को सलाह दी गई है कि बिना सुरक्षा के वे इनमें से कोई भी ऐप (App) न रखें. इन ऐप्स को हैकर्स से ज्यादा खतरा होगा क्योंकि ये ऐप्स अपडेट नहीं होंगे. ऐसे में हैकर्स (Hackers) आपके फोन को कंट्रोल में ले सकते हैं.

भारत-चीन सीमा विवाद के बीच भारत सरकार ने Tik Tok, UC Browser समेत 59 ऐप्स पर बैन लगा दिया है. सरकार ने इन ऐप्स को लोगों की निजता, भारत की संप्रभुता और अखंडता के लिए खतरा बताया है. एजेंसियों ने ऐसे 52 नाम सरकार को भेजे थे, जिनके जरिए उन्हें भारतीय लोगों की जासूसी का शक था. इन ऐप्स में Helo, Likee जैसे कई पॉपुलर ऐप्स शामिल हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Apps के जरिए हो रहा भारतीय डेटा चोरी

मालूम हो कि पिछले दिनों गलवान घाटी (Galwan Valley) में हिंसक झड़प के बाद से देशभर में इन ऐप्स पर बैन लगाने की मांग उठ रही थी. साथ ही इंटेलिजेंस एजेंसियों ने भी इन ऐप्स के जरिए हो रही डेटा चोरी के बारे में बताया था. हालांकि इस कदम का ‘बॉयकाट चाइना’ का विरोध कर रहे लोगों ने विरोध किया है, लेकिन यह स्मार्टफोन यूजर्स के लिए थोड़ी मुश्किलें खड़ी कर सकता है.

चाइनीज ऐप्स के बैन होने के बाद लोगों के मन में कई सवाल हैं, जिनके उत्तर इस खबर में है. इन ऐप्स पर बैन के बाद परेशान होने के भी जरूरत नहीं है, यूजर्स के पास कई भारतीय ऐप्स के विकल्प मौजूद हैं जो इन्हें कड़ी टक्कर देने की क्षमता रखते हैं.

यूजर्स के लिए कैसे बैन होंगे ये ऐप्स-

Google (Android) और Apple को सरकारी आदेश की सूचना मिलने पर प्रतिबंधित 59 ऐप Google Play Store के साथ-साथ iOS ऐप स्टोर से भी हटा दिए जाएंगे, टिकटॉक को प्ले स्टोर से हटा भी दिया गया है.

सरकारी अधिकारी पहले से ही इन ऐप्स के साथ सभी डेटा ट्रैफ़िक को ब्लॉक करने के लिए भारतीय इंटरनेट सेवा प्रदाताओं (ISP) और दूरसंचार सेवा प्रदाताओं (TSP) के साथ बातचीत कर रहे हैं. इसका मतलब है कि एक बार प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद, ये ऐप्स डिफ़ॉल्ट तरीके से ही काम करना बंद कर देंगे.

बैन के बाद अब ये ऐप्स आपके फोन से गायब नहीं हो जाएंगे, लेकिन हां! अब इसमें ऐप के सर्वर से कनेक्शन नहीं हो पाएगा.

यूजर्स को सलाह दी गई है कि बिना सुरक्षा के वे इनमें से कोई भी ऐप न रखें. इन ऐप्स को हैकर्स से ज्यादा खतरा होगा क्योंकि ये ऐप्स अपडेट नहीं होंगे. ऐसे में हैकर्स आपके फोन को कंट्रोल में ले सकते हैं.

प्रतिबंधित ऐप्स के लिए क्या हैं विकल्प-

अगर आप इन चीनी ऐप्स को हटाते हैं तो आपके लिए App Store और Play Store पर कई सारे भारतीय विकल्प भी उपलब्ध हैं. TikTok को टक्कर देने के लिए भारतीय ऐप Mitron App और Chingari App अच्छे विकल्प हैं. इसी तरह ShareIt, Xender की बजाय गूगल का FileGo अच्छा विकल्प है. वहीं Mi Video Call के मुकाबले तो बहुत से दूसरे ऐप्स उपलब्ध हैं, जैसे- Google Meet, WhatsApp, Google Duo. इन सबके लिए यूजर्स को क्वालिटी की भी चिंता करने की भी जरूरत नहीं है.

आगे क्या होगा-

सरकार द्वारा बैन किए गए इन 59 ऐप्स में से भारत में कुछ बेहद ही पॉपलुर हैं. खासतौर से टिकटॉक. इस ऐप पर करीब 10 करोड़ ​यानि की 50 प्रतिशत से भी ज्यादा एक्टिव यूजर्स अकेले भारत में ही हैं. इनमें से कुछ ऐप्स के ऑफिस भारत में भी हैं, जहां भारतीय लोग काम करते हैं. ऐसे लोगों की नौकरी पर भी खतरा मंडरा सकता है. ये ऐप ही उनकी इकलौती कमाई का जरिया हैं. ऐसे में इन लोगों के लिए परेशानियां खड़ी हो सकती हैं.

Related Posts