फेसबुक ने अमेरिका में ओरेगॉन वाइल्डफायर को लेकर फर्जी पोस्ट हटाए

अमेरिकी राज्य ओरेगन (Oregon) के जंगलों में लगी आग का कहर बरपाना जारी है. आग की लपटों के कारण 40,000 से अधिक लोगों को अपने घरों से पलायन करने के लिए मजबूर होना पड़ा रहा है.

फेसबुक (Facebook) ने रविवार को बताया कि उनके द्वारा कुछ ऐसे फर्जी पोस्ट (Fake Post) और गलत सूचनाओं को हटाया गया है, जिनमें यह दावा किया गया था कि अमेरिका के ओरेगॉन राज्य में जंगल में लगी आग के पीछे एंटीफा जैसे आतंकी संगठनों और चरम वामपंथी कार्यकर्ताओं का हाथ रहा है. ओरेगन में डगलस काउंटी शेरिफ के कार्यालय सहित कई संगठनों के सोशल मीडिया पर जंगल में लगी आग की घटनाओं पर फैलाई जा रही झूठी अफवाहों के बारे में चेतावनी जारी करने के बाद फेसबुक की तरफ से ये घोषणा की गई.

कंपनी के स्पोक्सपर्सन एंडी स्टोन ने कहा, “हम कुछ ऐसे झूठे दावे हटा रहे हैं जिनमें कहा गया है कि कुछ विशेष समूहों द्वारा ओरेगॉन में वाइल्डफायर की शुरुआत की गई है. कानून प्रवर्तन ने इस बात की पुष्टि की है कि इस तरह की अफवाहों से स्थानीय पुलिस और दमकलकर्मियों का ध्यान भटक रहा है और वे आग से निपटने और लोगों की रक्षा करने के अपने काम को सही से नहीं कर पा रहे हैं.”

उन्होंने आगे कहा, “हमारा प्रयास पहले भी ऐसी विषयसामग्रियों को हटाने का रहा है जिनसे आम जनता पर जोखिम का खतरा बना रहता है.”

माइक्रोसॉफ्ट के टीम्स में शामिल हुआ नया ऐप लिस्ट, सूचनाओं पर रखेगा नजर

बता दें अमेरिकी राज्य ओरेगन (Oregon) के जंगलों में लगी आग का कहर बरपाना जारी है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, पूरे राज्य में आग (fire) ने 10 लाख एकड़ से अधिक जमीन जला दी है. ओरेगनलाइव की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यह आंकड़ा पिछले 10 सालों में सालाना औसत से दोगुना है. आग की लपटों के कारण 40,000 से अधिक लोगों को अपने घरों से पलायन करने के लिए मजबूर होना पड़ा रहा है.

स्मार्टफोन यूजर्स के लिए गूगल ने रोल आउट किया ट्रू कॉलर जैसा फीचर, ऐसे करेगा काम

Related Posts