अगले साल बंद हो जाएगी Google की ये सर्विस, चैटिंग और कॉलिंग के लिए आएगा नया ऐप

आधिकारिक घोषणा करते हुए गूगल ने कहा कि 2021 की पहली छमाही में Google Hangouts को रिटायर कर देगा

टेक जाइंट Google ने घोषणा की है कि वे अगले साल तक अपनी Hangouts की सर्विस बंद कर उसके यूजर्स को Google चैट पर शिफ्ट कर देगा. इसको लेकर आधिकारिक घोषणा करते हुए गूगल ने कहा कि 2021 की पहली छमाही में Google Hangouts को रिटायर कर देगा और यूजर्स को गूगल चैट पर शिफ्ट कर देगा. कंपनी ने कहा है कि Hangout यूजर को Google चैट में बिना किसी शुल्क के ट्रांसफर किया जाएगा और यूजर्स आसानी से अपनी चैट हिस्ट्री और कॉन्टैक्ट्स को नए चैटिंग प्लेटफॉर्म पर ट्रांसफर कर सकेंगे.

क्या है Google Chat
गूगल चैट Google Workspace (पहले G Suite) का हिस्सा है. जीमेल, गूगल कैलेंडर, गूगल ड्राइव, गूगल डॉक्स, गूगल शीट्स, गूगल स्लाइड्स, मीट और अब गूगल चैट Workspace का हिस्सा है. इससे पहले गूगल चैट सिर्फ प्रीमियम G Suite के ग्राहकों के लिए उपलब्ध था लेकिन अब इसे जीमेल में फ्री सर्विस के तौर पर उपलब्ध करवाया जाएगा. इसके अलावा इसे गूगल हैंगआउंट ऐप की तरह अलग ऐप के जैसे भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

ये भी पढ़ेंः ‘मेड इन इंडिया’ स्मार्टफोन्स के साथ Micromax करने जा रहा है वापसी, को-फाउंडर ने दी जानकारी

वैसे तो Google Workspace भी अभी बिजनेस कस्टमर्स के लिए ही उपलब्ध है लेकिन कंपनी ने अपने ब्लॉग पोस्ट में कहा है कि अगले साल यह सबके लिए उपलब्ध होगा. गूगल चैट में कुछ हैंगआउट के फीचर्स जैसे डायरेक्ट और ग्रुप मैसेजिंग आदि मौजूद रहेंगे. कंपनी ने कहा है कि इस नए मैसेजिंग ऐप में भी Gmail की तरह फिशिंग मेकेनिज्म मौजूद रहेगा इसका मतलब जो भी अटैचमेंट गूगल चैट द्वारा भेजा जाएगा वो गूगल सेफ ब्राउजिंग के रियल टाइम डेटा के जरिए चलेगा और कुछ गलत होने पर उसे तुरंत पता चल जाएगा.

ये भी पढ़ेंः Xiaomi के इन स्मार्टफोन्स पर मिल रहा है 4 हजार तक का डिस्काउंट, फटाफट करें खरीदारी

इसके अलावा नवंबर महीने से हैंगआउट के जरिए किए जा रहे वीडियो कॉल्स में गूगल मीट का इस्तेमाल होने लगेगा. यूजर्स अगले साल से फोन नंबर के जरिए हैंगआउट से कॉलन नहीं कर पाएंगे. वहीं कुछ जानकारी स्पेशली Google Fi और Google वॉयस यूजर्स के लिए भी दी गई है. वॉयस यूजर्स को लेकर कंपनी ने कहा है कि इस महीने से हैंगआउट के द्वारा किए जा रहे मैसेज और कॉल्स को वॉयस ऐप पर रिडायरेक्ट करना शुरू कर देगी और अगले साल हैंगाउंट से वॉयस सपोर्ट को पूरी तरह से हटा दिया जाएगा. Google Fi यूजर्स भी अगले साल से हैंगआउट के जरिए मैसेज और कॉल्स को मैनेज नहीं कर पाएंगे.

ये भी पढ़ेंः Amazon और Flipkart समेत ई-कॉमर्स कंपनियों को नोटिस, सरकार ने 15 दिन में मांगा जवाब

ये भी पढ़ें- फ्लिपकार्ट के ‘बिग बिलियन डेज’ सेल में शुरू होगी Tecno के Camon 16 की बिक्री, और भी स्मार्टफोन्स पर मिलेगा भारी डिस्काउंट

Related Posts