अगर मोबाइल पर बिताते हैं ज़्यादा वक्त तो निकल सकते हैं सींग!

अगर आप मोबाइल का बहुत इस्तेमाल करते हैं तो ये खबर आपके लिए है. नई रिसर्च बता रही है कि अगर आप मोबाइल पर बहुत वक्त बिताते हैं तो आपके सींग भी निकल सकते हैं.

मोबाइल हर शख्स की ज़िंदगी का अहम हिस्सा बन चुका है. इसके बिना किसी का भी काम मुश्किल है. जब हम मोबाइल पर किसी से बात नहीं कर रहे होते तब यकीनन सोशल मीडिया, वीडियो या किसी गेम से चिपके होते हैं. टाइम बचाने से लेकर टाइम पास करने तक मोबाइल एक क्रांतिकारी टूल है लेकिन अब एक ऐसा रिसर्च सामने आया है जिसके मुताबिक मोबाइल के ज़्यादा इस्तेमाल से युवाओं के सिर पर सींग उगने लगे हैं. मतलब ये है कि मोबाइल से अब मानसिक ही नहीं शारिरिक बदलाव भी आने लगे हैं.

रिसर्च का आधार जैव यांत्रिकी है. माना जा रहा है कि जो युवा सिर झुकाकर मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं उनकी खोपड़ी में सींग जैसी हड्डी विकसित हो रही है. ये बदलाव 18 से 30 साल के युवाओं में अधिक दिख रहा है जो दिन-रात कई घंटे झुककर मोबाइल स्क्रीन ही देखते रहते हैं. ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में सनशानइन कोस्ट यूनिवर्सिटी में इस बात को विस्तार से समझाया गया है. रिसर्च में बताया गया है कि रीढ़ की हड्डी से वजन के शिफ्ट होकर सिर के पीछे की मांसपेशियों तक जाने से कनेक्टिंग टेंडन और लिगामेंट्स में हड्डी का विकास होता है. नतीजतन एक हुक या सींग की तरह की हड्डियां बढ़ रही हैं जो गर्दन के ठीक ऊपर की तरह खोपड़ी से बाहर निकली हुई है.

‘वॉशिंगटन टाइम्स’ की खबर के अनुसार खोपड़ी के निचले हिस्से इस कांटेदार हड्डी को देखा जा सकता है. यह हड्डी किसी सींग की तरह लगती है. डॉक्टरों के मुताबिक इंसानी खोपड़ी का वजन करीब साढ़े चार किलो होता है. आमतौर पर मोबाइल का इस्तेमाल करते वक्त लोग अपने सिर को लगातार आगे पीछे की तरफ हिलाते हैं. ऐसे में गर्दन के निचले हिस्से की मांसपेशियों में खिंचाव आता है और इसी के चलते हड्डियां बाहर की तरफ निकल जाती है, जो सींग की तरह दिखती है.

Related Posts