कर्नाटक : विधानसभा सत्र के पहले दिन हंगामा, कांग्रेस के 9 विधायक नहीं पहुंचे असेंबली

नई दिल्ली : कार्नाटक में बजट सत्र की शुरूआत के साथ ही हंगामा शुरू हो गया है. सत्र के पहले दिन ही कर्नाटक कांग्रेस के 9 विधायक सदन से गायब रहे. सूत्रों की मानें तो 9 विधायकों में से 4 विधायक वो हैं जो 18 जनवरी को पार्टी की विधायक दल की मीटिंग में भी […]

नई दिल्ली : कार्नाटक में बजट सत्र की शुरूआत के साथ ही हंगामा शुरू हो गया है. सत्र के पहले दिन ही कर्नाटक कांग्रेस के 9 विधायक सदन से गायब रहे. सूत्रों की मानें तो 9 विधायकों में से 4 विधायक वो हैं जो 18 जनवरी को पार्टी की विधायक दल की मीटिंग में भी शामिल नहीं हुए थे. ये 4 विधायक थे रमेश जरकिहोली, उमेश जी माधव, महेश कुमतल्ली और बी नागेन्द्र. इन विधायकों में जे एन गणेश भी शामिल हैं जो हाल ही में विधायकों के साथ मारपीट करने के आरोपी हैं.

इस पूरे घटनाक्रम का फायदा राज्य बीजेपी को मिलेगा जो सत्तारूढ़ जदएस-कांग्रेस गठबंधन को कमजोर करने के प्रयास में लगी है. सत्र के पहले दिन गठबंधन के सभी विधायकों को एक व्हिप जारी करके सदन में उपस्थित रहने का आदेश दिया गया था जिसकी अनदेखी करते हुए कई विधायक गायब रहे. इस घटनाक्रम के बाद भाजपा ने मौजूदा सरकार की वैधता पर सवाल उठाते हुए सदन में जमकर हंगामा किया. विपक्ष ने राज्यपाल के संबोधन में भी बाधा डाली और उन्हें बोलने नहीं दिया.

भाजपा ने इस हंगामे का कारण बताते हुए कहा कि ये सरकार बहुमत और विश्वास दोनों खो चुकी है. इसे बने रहने का कोई अधिकार नहीं है. कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया ने इस पूरे प्रकरण में गायब रहने वाले विधायकों को नोटिस भेजकर उन्हें जवाब देने को कहा है. हालांकि किसी विधायक ने अभी तक इसका जवाब नहीं दिया है और जिन 4 विधायकों के गायब होने की जानकारी मिली है उनके बारे में ऐसी अटकलें लगायी जा रही हैं कि वे भाजपा के संपर्क में हैं और पार्टी छोड़ सकते हैं.