65 और 71 की जंग में भारत के खिलाफ लड़े थे अदनान सामी के पिता, पढ़ें पूरा प्रोफाइल

अदनान सामी के पिता फ्लाइट लेफ्टिनेंट अरशद सामी खान का जन्म 8 जनवरी 1942 को हुआ था. वो पाकिस्तानी वायुसेना में पायलट थे. उन्‍होंने भारत के खिलाफ दो युद्ध भी लड़े थे।
know about the adnan sami father, 65 और 71 की जंग में भारत के खिलाफ लड़े थे अदनान सामी के पिता, पढ़ें पूरा प्रोफाइल

पाकिस्तानी मूल के सिंगर अदनान सामी को मोदी सरकार की ओर से दिए गए पद्म पुरस्कार पर बवाल खड़ा हो गया है. कांग्रेस और एनसीपी ने आपत्ति जताते हुए मोदी सरकार से कई सवाल पूछे गए, कि क्या सम्मान दिए जाने का पैमाना बदल गया है या फिर मोदी सरकार डैमेज कंट्रोल कर रही है, जिससे वो दिखा सके कि पाकिस्तानी नागरिकों को न केवल नागरिकता दी जा रही है बल्कि उन्‍हें सम्मानित भी किया जा रहा है. अदनान को पद्मश्री देने के फैसले का विरोध करने वालों का कहना है कि अदनान के पिता अरशद सामी खान
पाकिस्तानी सेना में थे, जिन्‍होंने भारत के खिलाफ युद्ध लड़ा था.

पाकिस्‍तानी एयर फोर्स में पायलट थे अदनान सामी के पिता 

1. अदनान सामी के पिता फ्लाइट लेफ्टिनेंट अरशद सामी खान का जन्म 8 जनवरी 1942 को हुआ था. जो पाकिस्तानी वायुसेना में पायलट थे.
2.अदनान के पिता अरशद  सामी  ने भारत के खिलाफ 1965 और 1971 के युद्ध में भाग लिया था.
3. 1972 में रिटायर होने के बाद वायुसेना से पाकिस्तान की सरकार में सक्रिय रहे. राष्ट्रपति जुल्फिकार अली भुट्टो ने अरशद सामी को विदेश सेवा में शामिल किया.
4. अरशद को स्वीडन डेनमार्क और नॉर्वे सहित 10 अन्य देशों में पाकिस्तान का राजदूत भी बनाया गया.
5. पाकिस्तान के कई राष्ट्रपतियों के निजी स्टाफ में भी रहे.
6. बेनजीर भुट्टो सरकार में अरशद खान पाकिस्तान के पहला कमिश्नर जनरल  नियुक्त किए हुए.
7. 2009 में 67 साल की उम्र में अरशद  सामी की कैंसर से मौत हो गई.
8. 14 अगस्त 2012 को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अरशद खान को तीसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार सितारा-ए-इम्तियाज से सम्मानित किया था.

लंदन में जन्मे अदनान सामी ने 2015 में भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन दिया था, जनवरी 2016 में सरकार ने उन्हें भारतीय नागरिता प्रदान की और अब गणतंत्र दिवस के मौके पर केंद्र सरकार ने अदनान को पद्मश्री दिए जाने की घोषणा की, जिसके बाद उन्हें सम्मान दिए जाने पर बवाल खड़ा हो गया.

ये भी पढ़ें-   

शाहीन बाग पर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने तोड़ी चुप्पी, बीजेपी पर यूं फोड़ा ठीकरा

निर्भया गैंगरेप: पीड़िता के दोस्त की गवाही को खारिज करने की याचिका कोर्ट ने ठुकराई

Related Posts