पाकिस्तान आर्मी के झूठ पर इमरान ख़ान के मंत्रियों की ‘एयर स्ट्राइक’!

भारतीय वायुसेना के हवाई हमले को पाकिस्तान ने शुरुआत में हर तरह से ख़ारिज करने की कोशिश की. लेकिन, जिस तरह आतंकी कैम्प को लेकर वो झूठ बोलता रहा है, ठीक उसी तरह भारत की एयर स्ट्राइक को भी झूठा बताने लगा. मगर, सच ये है कि आतंकी कैम्प भी तबाह हुए और पाकिस्तान का झूठ भी.

नई दिल्ली/ इस्लामाबाद: पाकिस्तान की सरकार सेना की मुट्ठी में है, ये तो दुनिया जानती है, लेकिन ये कैसे हो गया कि इमरान सरकार अपनी आतंकी सेना से अलग बयान दे बैठी. पाकिस्तान की सेना ने भारत की ओर से की गई एयर स्ट्राइक की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर कीं. फिर पाकिस्तान सरकार के नेताओं ने झूठे दावे शुरू कर दिए कि कुछ नहीं हुआ. मगर, पाकिस्तान के ‘कुछ नहीं हुआ’ में ही ‘बहुत कुछ’ छिपा है.

गफ़ूर बताएं, हमला हुआ नहीं तो बदला किस बात का?

मेजर जनरल आसिफ गफूर (डीजी, इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशंस) ने तो झूठ बोलने में पाकिस्तान सरकार को भी पीछे छोड़ दिया. मंगलवार को अपने बयान की शुरुआत में कहा-“मैं ज़्यादा बड़ी बात नहीं कहना चाहता, लेकिन मैं कहता हूं आओ 21 मिनट पाकिस्‍तानी एयरस्‍पेस में बिताकर दिखाओ.” फिर उन्‍होंने अपने झूठ का अंदाज़ बदलते हुए कहा- “बीती रात वो (भारतीय वायुसेना) हमारे रडार की जद में थे. वो बॉर्डर के करीब तक आए, लेकिन क्रॉस नहीं कर पाए. सबसे पहले भारतीय वायुसेना की हलचल लाहौर के पास सियालकोट में ट्रेस की गई. वो हमारे बॉर्डर की ओर आगे बढ़ रहे थे. हमारी कॉम्‍बेट एयर पेट्रोल टीम ने तुरंत चुनौती दी और भारतीय वायुसेना बॉर्डर क्रॉस नहीं कर सकी”. दो झूठ के बाद गफ़ूर ने आख़िरकार सच बोल ही दिया. कहा- “अब भारत को हमारे जवाब के लिए तैयार रहना चाहिए. हमला कब होगा, ये हम तय करेंगे”. अब गफ़ूर ही बेहतर बता सकते हैं कि वो झूठ बोल रहे हैं या पाकिस्तान के मंत्री? पाकिस्तान तो कभी नहीं पूछेगा, लेकिन हिंदुस्तान पूछ रहा है- अगर हमला हुआ ही नहीं तो गफ़ूर की बुज़दिल सेना बदला किस बात का लेगी? मेजर जनरल आसिफ़ गफ़ूर अपने झूठ पर रफ़ू कर पाते, इतने में इमरान के मंत्रियों ने गफ़ूर के झूठ पर एयर स्ट्राइक कर दी.

इमरान के मंत्रियों ने अपनी सेना के झूठ पर की स्ट्राइक!

पाकिस्तान सरकार ने नेशनल सिक्योरिटी कमेटी की मीटिंग बुलाई. इसमें इमरान के अलावा रक्षा और विदेश मंत्री के अलावा सेना के अफ़सर भी शामिल हुए. बाद में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. कुरैशी बोले- भारत की आक्रामकता का जवाब देंगे. इसके लिए वक्त और स्थान भी हम ही तय करेंगे. यानी वो ये मान चुके हैं कि भारत की ओर से हमला हुआ. इसी प्रेस कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तान के रक्षा मंत्री परवेज़ खटक भी एयर स्ट्राइक पर अपने झूठ को ज़्यादा देर तक बरक़रार नहीं रख सके. वो बोल बैठे- हमारी एयरफोर्स तैयार थी, लेकिन वो अंधेरे में कुछ देख नहीं पाई. वहां बम गिराए गए. आगे कुछ हुआ तो जवाब देंगे. बाद में कुरैशी ने हालात को संभालने की कोशिश की, लेकिन तब तक सच सामने आ चुका था. क्योंकि पाकिस्तानी सेना झूठ पर झूठ बोल रही थी कि बालाकोट में कुछ हुआ ही नहीं. भारत सिर्फ़ दुष्प्रचार कर रहा है। दूसरी तरफ, मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि पाकिस्तान की सेना ने बालाकोट को घेर लिया है और वो भारत के हमले के बाद हुई तबाही के निशान मिटाने में जुट गई है.

शेम-शेम के नारों से इमरान ख़ान पर संसद में स्ट्राइक!

भारतीय वायुसेना के हमले से पाकिस्तान में हड़कंप मचा है. PoK से बालाकोट तक हुए हवाई हमलों के बाद पाकिस्तान में संसद से सड़क तक इमरान ख़ान पर चौतरफ़ा हमले शुरू हो गए हैं. संसद में इमरान ख़ान के ख़िलाफ़ ‘शर्म करो” जैसे नारे लगाए गए. पूर्व विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार ने संसद में अपने पीएम इमरान ख़ान पर हमला बोला. उन्होंने भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक पर अपने प्रधानमंत्री से संसद में आकर बयान देने की मांग की. खार ने कहा- हमारे देश में इमरजेंसी जैसे हालात हैं.

ख़ैर पाकिस्तान की बुज़दिल आर्मी और इमरान ख़ान की झूठी सरकार के पास बचने का एक ही रास्ता है. आतंकवाद का रास्ता छोड़कर सही रास्ते पर आ जाएं, क्योंकि वक़्त बहुत कम है. पाकिस्तान की हवाई सीमा पर भारतीय विमानों की हुंकार किसी भी समय फिर सुनाई दे सकती है.