बुलंदशहर में गरजे अमित शाह, बोले- कांग्रेस नहीं चाहती अयोध्या में बने राम मंदिर

बुलंदशहर सियासत की नजर से देश का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण राज्य यूपी है. 2014 के लोकसभा चुनावों में भाजपा को यहां 71 सीटें मिली थी. इस बार भाजपा की राह थोड़ा कठिन नजर आ रही है क्योंकि राज्य की दो बड़ी पार्टियों ने आपस में ही हाथ मिला लिया है. भाजपा अध्यक्ष ने अपने […]

बुलंदशहर

सियासत की नजर से देश का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण राज्य यूपी है. 2014 के लोकसभा चुनावों में भाजपा को यहां 71 सीटें मिली थी. इस बार भाजपा की राह थोड़ा कठिन नजर आ रही है क्योंकि राज्य की दो बड़ी पार्टियों ने आपस में ही हाथ मिला लिया है. भाजपा अध्यक्ष ने अपने भाषण में कई बार इस गठबंधन को आड़े हाथों लिया. अमित शाह ने कहा कि पहले यूपी के दो लड़के आए थे और इस बार बुआ-भतीजे साथ आए हैं.

गौरतलब है कि यूपी विधानसभा चुनावों में राहुल गांधी और अखिलेश यादव ने एक साथ मिलकर चुनाव लड़ा था. उस वक्त से ही ‘यूपी के दो लड़के’ जुमला बहुत लोकप्रिय हुआ था. इस बार सपा और बसपा की जुगलबंदी हुई है जिससे भाजपा को खासा नुकसान हो सकता है. प्रदेश में इन दोनों पार्टियों की काफी गहरी पैठ है.

अमित शाह के भाषण की 10 बड़ी बातें

1- कांग्रेस नहीं चाहती की अयोध्या में राम मंदिर बने.

2- भाजपा सरकार ने राम जन्म भूमि न्यास को 42 एकड़ जमीन वापस दिलाई.

3- राहुल बाबा बताए क्या आप चाहते हैं कि अयोध्या में राम मंदिर बने या न बने.

4- महागठबंधन के नेताओं को यूपी में कोई नहीं पहचानता.

5- मोदी जी के भय से सभी नेता एकत्रित हो गए हैं.

6- 2014 में महागठबंधन के सभी नेताओं को हराकर हमने पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई.

7- पहले यूपी के दो लड़के और अब बुआ-भतीजा इकट्ठा हुए है.

8- 2019 में भाजपा प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आएगी.

9- सर्जिकल स्ट्राइक कर सेना और देश का मनोबल बढ़ाया.

10- भाजपा सरकार आने के बाद पश्चिमी उत्तर प्रदेश से पलायन रोका गया.