आतंकियों को पनाह देने वाले JEM के तीन ग्राउंड वर्कर्स को पुलिस ने किया गिरफ्तार

इन लोगों ने 12 जून को अनंतनाग में सीआरपीएफ के जवानों पर हमला करने वाले आतंकियों को पनाह दी थी. इस हमले में पांच सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे.

श्रीनगर: प्रतिबंधित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के तीन ओवर ग्राउंड आतंकियों को जम्मू कश्मीर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इन पर आरोप है कि इनका 12 जून को हुए आतंकी हमले से संबंध है. जानकारी के मुताबिक इन लोगों ने 12 जून को अनंतनाग में सीआरपीएफ के जवानों पर हमला करने वाले आतंकियों को पनाह दी थी. इस हमले में पांच सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे.

अनंतनाग हमले के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अल्ताफ खान के नेतृत्व में गठित किए गए जांच दल ने अनंतनाग के केपी रोड पर हमले की जांच की. जांच में तीन लोग जिनका नाम आमिर, कैसर और इरफान बताया जा रहा है, उन्हें पकड़ा. ये लोग कथित रूप से आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के वर्कर्स के रूप में सक्रिय थे.

सीआरपीएफ के जवानों पर हमले को अंजाम देने वाले आतंकी करीब चार दिन पहले इन तीन लोगों में से एक के घर पर रुके थे. साथ ही उन्होंने हमले को अंजाम देने के पहले अनंतनाग में रेकी की थी. रेकी करने में भी इन युवकों ने उन आतंकवादियों का साथ दिया था. पूछताछ के दौरान इन्होंने बताया कि जैश का स्थानीय कमांडर पुंजू इन आतंकियों को उनके पास लाया था.

मालूम हो कि 12 जून को हुए आतंकी हमले में जम्मू कश्मीर पुलिस के अधिकारी अरशद खान भी शहीद हो गए थे. उन्हें सीआरपीएफ ने श्रद्धांजलि अर्पित की थी, साथ ही गृह मंत्री अमित शाह भी अपने कश्मीर दौरे के दौरान उनके घर गए थे और उनके परिजनों से मुलाकात कर सांत्वना प्रकट की थी.

ये भी पढ़ें: चर्चित पहलू खान मामले की दोबारा होगी जांच, अदालत ने मंजूर की पुलिस की याचिका