सर्जिकल स्ट्राइक के हीरो लेफ्टिनेंट जनरल हुड्डा राहुल गांधी की टास्‍क फोर्स में हुए शामिल

Share this on WhatsAppनई दिल्‍ली। सर्जिकल स्ट्राइक. पिछले कुछ सालों में बीजेपी नेताओं की जुबां पर आने वाला सबसे प्यारा दो शब्द. खासतौर से जब भी बात राष्ट्रीय सुरक्षा और अस्मिता की हो रही हो. लेकिन ताजा खबर ये है कि सर्जिकल स्ट्राइक का एक हीरो राहुल गांधी के गेमप्लान का हिस्सा बन गया है. […]

नई दिल्‍ली। सर्जिकल स्ट्राइक. पिछले कुछ सालों में बीजेपी नेताओं की जुबां पर आने वाला सबसे प्यारा दो शब्द. खासतौर से जब भी बात राष्ट्रीय सुरक्षा और अस्मिता की हो रही हो. लेकिन ताजा खबर ये है कि सर्जिकल स्ट्राइक का एक हीरो राहुल गांधी के गेमप्लान का हिस्सा बन गया है. वो भी ऐसे वक्त में, जब केंद्र की मोदी सरकार पर पुलवामा हमले के बाद सवाल उठने शुरू हो चुके हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा (रिटायर्ड). हुड्डा को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राष्ट्रीय सुरक्षा पर बनाई गई टास्क फोर्स का जिम्मा सौंपा है. ये देश का वही वीर सपूत है, जिनकी निगरानी में भारतीय फौज पाकिस्तानी आतंकियों के ठिकाने को मिट्टी में मिलाकर आई थी. 2016 में किए गए इस हमले को सर्जिकल स्ट्राइक का नाम दिया गया था.

दरअसल, कांग्रेस की ओर से गठित ये टास्क फोर्स देश की सुरक्षा को लेकर एक विजन पेपर तैयार करेगी और इसी को लेफ्टिनेंट जनरल हुड्डा लीड करेंगे. उनके साथ कई दूसरे विशेषज्ञों को भी लगाया जा रहा है. माना जा रहा है कि पुलवामा हमले के बाद के माहौल में राहुल गांधी की इस पहल से पार्टी को फायदा मिल सकता है. खास बात ये भी है कि पिछले दिनों सर्जिकल स्ट्राइक के 2 साल पूरे होने पर लेफ्टिनेंट जनरल हुड्डा ने कहा था कि- “इस हमले का कुछ ज्यादा ही प्रचार कर दिया गया, जिसकी जरूरत नहीं थी. सेना का ऑपरेशन अहम और जरूरी था और हमें ऐसा करना ही था. लेकिन इसका कितना राजनीतिकरण होना चाहिए था यह कितना सही है या गलत यह बात राजनेताओं से पूछी जानी चाहिए.”

गौर करने वाली बात ये भी है कि लेफ्टिनेंट जनरल हुड्डा ने पुलवामा हमले के ठीक बाद भी देश को सतर्क किया था. तब उन्होंने कहा था कि- पाकिस्तान के खिलाफ किसी भी तरह की कार्रवाई संभावित है. लेकिन सरकार और सुरक्षा बलों को सावधानी बरतनी चाहिए. इस विवाद को सुलझाने के लिए सभी पक्षों को एक बार फिर सोचना चाहिए और मिल-बैठकर आपस में बातचीत करनी चाहिए. ये अलग बात है कि बातचीत को जरूरी बताने पर ही कांग्रेस नेता और पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की खूब खबर ली गई और उन्हें एक शो से बाहर भी कर दिया गया.

बहरहाल, लेफ्टिनेंट जनरल हुड्डा अपने कार्यकाल के दौरान नॉर्दन कमांड की जिम्मेदारी संभाल रहे थे और सितंबर 2016 में भारत की ओर से किए गए सर्जिकल स्ट्राइक में उनकी अहम भूमिका थी. भारत ने तब ये हमला उरी में पाकिस्तानी आतंकवादियों के हमले के बदले में किया था. उरी हमले में हमारे 19 सैनिक शहीद हो गए थे. अब वही हुड्डा राहुल गांधी और कांग्रेस की मदद करेंगे.