विमान AN-32 की पहली तस्वीर आई सामने, घने जंगल में पड़ा है मलबा

 तलाशी अभियान में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के उपग्रह -काटरेसैट और आरआईसैट भी इलाके की तस्वीरें ले रहे हैं.

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना के लापता विमान एएन-32 के मलबे की पहली तस्वीर सामने आई है. इसमें घने जंगल में विमान का मलबा दिख रहा है. सूत्रों की तरफ से शेयर की गई तस्वीर में AN-32 विमान का मलबा और झुलसे हुए पेड़ साफ नजर आ रहे हैं. इससे साफ हो रहा है कि जब विमान गिरा होगा तो भीषण आग लगी होगी.

एयर फोर्स की टीम ने एएन-32 के टुकड़ों को अरुणाचल प्रदेश के लिपो नाम की जगह से 16 किलोमीटर उत्तर में इसके मलबे को देखा है. एयरफोर्स की टीम अब इन मलबों की जांच कर रही है. वायु सेना ने अब सर्च का दायरा भी बढ़ा दिया है.

बता दें कि बीते 3 जून को लापता हुए AN-32 विमान ने 8 क्रू मेंबर और 5 यात्रियों के साथ उड़ान भरी थी. इस विमान को तलाशने के लिए इंडियन एयरफोर्स ने लगातार अभियान जारी रखा था. तलाशी अभियान में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के उपग्रह -काटरेसैट और आरआईसैट भी इलाके की तस्वीरें ले रहे हैं.

पूर्वी वायु कमान के एयर ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ एयर मार्शल आरडी माथुर तलाशी और बचाव अभियान को देख रहे हैं. उन्होंने वायुसेना के लापता कर्मियों के परिजनों से बातचीत भी की. इसके अलावा, सेना, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस, अरुणाचल पुलिस और स्थानीय समुदाय भी जमीन पर लापता विमान की खोज में लगे हुए हैं.

रूसी विमान है  An-32

Antonov An-32 दो इंजन वाला टर्बोप्रोप मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट है. ये एयरक्राफ्ट रूसी विमान एएन-26 का आधुनिक वर्जन है. इस विमान की सबसे बड़ी खासियत ये है कि यह किसी भी मौसम में उड़ान भरने में सझम है. इस एयरक्राफ्ट को इंदिरा गांधी की सरकार के समय रूस और भारत के बीच दोस्ताना संबंध और भारतीय वायुसेना की जरूरतों को देखते हुए मंगाया गया था.

इसका अधिकतम इस्तेमाल कम और मध्यम हवाई दूरी के लिए सैन्य साजो-सामान पहुचांने, आपदा के समय घायलों को अस्पताल लाने-ले जाने और जावनों को एक जगह दूसरी जगह पहुंचाने में किया जाता है. भारत में जब भी युद्ध और प्राकृतिक आपदा जैसी परिस्थितियों हुई है इस विमान ने इंडियन एयरफोर्स का बहुत साथ निभाया है. कारगिल युद्ध के दौरान यह विमान जवानों को दुर्गम स्थानों पर भेजने में अहम साबित हुआ था.

ये भी पढ़ें- VIDEO: 192 घंटे बाद अरुणाचल की पहाड़ी पर मिला AN-32 का मलबा, 13 लोग थे सवार