इमरान का झूठ बेनकाब, बताया अरेस्ट लेकिन ऐश कर रहा भारत का गुनहगार हाफिज सईद

अग्रिम जमानत मांगने के लिए आतंकवाद रोधी अदालत में पेश होने लाहौर से गुजरांवाला जा रहे हाफिज को सीटीडी ने गिरफ्तार कर लिया था.

नई दिल्ली: मुंबई के 26/11 हमलों का मास्टरमाइंट और आतंकी संगठन जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद की गिरफ्तारी का पाकिस्तान नाटक कर रहा है. पाकिस्तान के इस नाटक का खुलासा हाफिज की गिरफ्तारी के दो दिन बाद ही हो गया है. मीडिया में सूत्रों के हवाले से खबर आई है कि हाफिज सईद को जेल में नहीं बल्कि गुजरांवाला जेल अधीक्षक के बंगले में रखा गया है. साथ ही उसे वहां वीआईपी सुविधाएं दी जा रही हैं.

CTD ने किया था गिरफ्तार
मालूम हो कि पाकिस्तान में आतंकवाद रोधी इकाई ने बुधवार को हाफिज सईद को गिरफ्तार कर लिया था. हाफिज सईद भारत के सबसे वांछित आतंकवादियों में से है. अग्रिम जमानत मांगने के लिए आतंकवाद रोधी अदालत में पेश होने लाहौर से गुजरांवाला जा रहे हाफिज को आतंकवाद रोधी विभाग (सीटीडी) ने गिरफ्तार कर लिया था. सईद के खिलाफ कई मामले लंबित हैं. कहा गया कि आतंकी गतिविधियों के लिए फंड मुहैया कराने के आरोप में हाफिज को सात दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है.

वैश्विक आतंकी है हाफिज सईद
बता दें कि हाफिज सईद को संयुक्त राष्ट्र ने भी वैश्विक आतंकी घोषित किया हुआ है. साथ ही अमेरिका ने उस पर एक करोड़ डॉलर (करीब 70 करोड़ रुपये) का इनाम रखा है. हाफिज की गिरफ्तारी प्रधानमंत्री इमरान खान के पहले अमेरिका दौरे से ठीक पहले हुई है. ऐसे में इसे इमरान और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात से जोड़कर भी देखा जा रहा है.

‘2 साल का दबाव काम आया’
हाफिज की गिरफ्तारी पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि इस मामले में पिछले दो साल से बनाया गया भारी दबाव काम आया. सईद को मुंबई आतंकी हमले का ‘तथाकथित मास्टमाइंड’ बताते हुए ट्रंप ने कहा कि दस साल की तलाश के बाद उसे गिरफ्तार किया गया है. ट्रंप के इस दावे पर कई तरह के गंभीर सवाल भी उठे थे और इसे कुछ एक्सपर्ट द्वारा खारिज भी कर दिया गया था.

ये भी पढ़ें-

कुलभूषण जाधव को मिलेगी काउंसलर एक्सेस, ICJ के आदेश के आगे झुका पाकिस्तान

अतीक अहमद के घर पर CBI का छापा, जब्त किया गया इतना कैश

भाई आनंद कुमार पर हुई IT विभाग की कार्रवाई से गुस्साईं मायावती, केंद्र सरकार पर लगाया ये आरोप