लेबनान के बेरूत पोर्ट पर लगी भीषण आग, आसमान में उठते धुएं का गुबार देख दहशत में भागे लोग

लेबनान (Lebanon) की सेना ने कहा कि इंजन के तेल और टायरों के एक गोदाम में आग लग गई थी, जिसने विकराल रूप ले लिया. आग पर काबू पाने के लिए फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं. आग पर काबू पाने के प्रयास किए जा रहे हैं.

लेबनान (Lebanon) की राजधानी बेरूत (Beirut) में एक बार फिर बंदरगाह (port) पर भीषण आग लग गई. हालांकि अभी तक किसी जान-माल के नुकसान की सूचना नहीं है. बेरूत (Beirut) पोर्ट पर गुरुवार को आग की ऊंची-ऊंची लपटें देखी गईं हैं. हालांकि इस बार कोई बड़ा धमाका नहीं सुना गया है. घटना के बाद वहां अफरातफरी का माहौल बन गया और लोग इधर उधर भागने लगे. लेबनान (Lebanon) की सेना ने कहा कि इंजन के तेल और टायरों के एक गोदाम में आग लग गई थी, जिसने विकराल रूप ले लिया. आग पर काबू पाने के लिए फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं. आग पर काबू पाने के प्रयास किए जा रहे हैं.

स्थानीय मीडिया का कहना है कि बंदरगाह के नजदीक जिन कंपनियों के कार्यालय हैं उनके कर्मचारियों को क्षेत्र से बाहर जाने को कह दिया गया है. बंदरगाह के पास से गुजरने वाली मुख्य सड़क को सेना ने बंद कर दिया है. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में बंदरगाह पर काम करने वाले कर्मचारियों को डर के मारे भागते हुए देखा जा सकता है.

इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के मुताबिक लेबनान की राजधानी बेरूत के ऊपर आसमान में भंयकर काले धुएं और आग की उठती लपटों को देखा गया. बेरूत पोर्ट के कर्मचारी आग की लपटों और काले धुएं के गुबार का विडियो बना रहे थे. इलाके में घटना से दहशत फैल गई और लोग चिल्लाते हुए कह रहे थे “गो गो गो, सब लोग, गो!” सेना ने कहा कि हेलीकॉप्टरों की मदद से आग पर काबू पाने के प्रयास किए जा रहे हैं.

स्थानीय मीडिया के मुताबिक सेना आस-पास के लोगों को निकालने के लिए बचाव अभियान शुरू कर दिया है. आग की घटना के बाद आसपास के इलाके में घबराए हुए नागरिक अपनी गाड़ियों में यह कहते हुए जाने लगे कि वे बेरूत को छोड़ देंगे. गुरुवार को पोर्ट पर धुएं के उठते गुबार ने लोगों को एक माह पहले के हादसे की याद ताजा कर दी.

4 अगस्त को हुआ था भीषण धमाका

बता दें कि लेबनान की राजधानी बेरूत (Beruit) में 4 अगस्त को हुए भीषण धमाकों (Blast) में कम से कम 190 से अधिक लोगों की मौत, 6,500 घायल और 300,00 बेघर हो गए थे. इन धमाकों से बेरूत में अरबों डॉलर की संपत्ति का नुकसान भी हुआ है. जबकि यह देश पहले से ही अपने अब तक इतिहास में सबसे खराब आर्थिक संकट का सामना कर रहा है.

Related Posts