हैदराबाद के हैवानों के दिमाग में क्राइम स्टोरीज देखकर जागा शैतान पर दो कदम आगे निकली पुलिस, पूरी स्टोरी

पूछताछ में आरोपियों ने कहा था कि वें ज्यादा क्राइम स्टोरीज़ देखते हैं, जिससे उनके दिमाग में बड़ा क्राइम करने का बीज उपजा था. इसके बाद पुलिस को पुलिस को इनकी गतिविधयों पर भी शक होने लगा था.

तेलंगाना गैंगरेप मामले के चारों आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है. पुलिस के मुताबिक एक विशेष टीम चारों आरोपियों लेकर सीन रीक्रिएट करने के लिए उस अंडरब्रिज में पहुंची थी. जहां महिला डॉक्टर डॉक्टर को पेट्रोल डालकर जला दिया था. इसी दौरान चारों आरोपी पुलिस पर हमला कर भागने की कोशिश करने लगे. पुलिस ने उन्हें रोकने को फायरिंग की और जिसमें उनकी मौत हो गई.

क्राइम स्टोरी देख जागा शैतान
शादनगर कोर्ट ने बुधवार को ही इन चारों को सात दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा था. जिसके बाद पुलिस की एक विशेष टीम चरलापल्ली जेल में आरोपियों से पूछताछ करने पहुंची थी. पूछताछ में आरोपियों ने कहा था कि वें ज्यादा क्राइम स्टोरीज़ देखते हैं, जिससे उनके दिमाग में बड़ा क्राइम करने का बीज उपजा थी, जिसकी वजह से उनको पता चला कि क्राइम करके कैसे बचा जा सकता है. मगर उन्हें यह नहीं पता था कि पुलिस उनसे एक कदम आगे है.

इतना ही नहीं पुलिस को इनकी गतिविधयों पर भी शक होने लगा था, इसलिए इन चारों को अलग-अलग बैरक में रखा गया था. क्योंकि पुलिस पूछताछ में चारों बताया था कि क्राइम कर के कैसे भाग सकते है.

इस खबर से जुड़ी हर बड़ी अपडेट देखिए हमारे साथ

क्ल्यूज टीम के हाथ लगे अहम सबूत
जहां एक तरफ चरलापल्ली जेल में पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही थी, तो वहीं दूसरी और घटनास्थाल पर क्ल्यूज टीम भी पहुंची हुई थी. जानकारी के मुताबिक इस दौरान पुलिस को कई अहम सबूत हाथ लगे थे. यहां तक की पुलिस को दिशा का फोन भी मिल गया था, जिससे कई राज का पता चल सकता था. शायद इसी डर के कारण उन चारों ने यह कदम उठाया और पुलिस ने उनको इस दुनिया से ही उठा दिया.

ये भी पढ़ें :हैदराबाद के चारों दरिंदों ने जहां दिखाई थी हैवानियत, उसी जगह एनकाउंटर में सबको मिली मौत