INDvsSA: विशाखापट्टनम टेस्ट के चौथे दिन विराट के किस प्लान से चारों खाने चित होगी दक्षिण अफ्रीका?

विशाखापट्टनम टेस्ट में मजबूत संघर्ष के बाद भी मेहमान दक्षिण अफ्रीका की टीम बैकफुट पर है. टेस्ट मैच के तीसरे दिन का खेल खत्म होने पर दक्षिण अफ्रीका के सिर्फ 2 पुछल्ले बल्लेबाज बचे हैं और उन पर अभी 117 रनों की बढ़त है.

विशाखापट्टनम टेस्ट में मजबूत संघर्ष के बाद भी मेहमान दक्षिण अफ्रीका की टीम बैकफुट पर है. टेस्ट मैच के तीसरे दिन का खेल खत्म होने पर दक्षिण अफ्रीका के सिर्फ 2 पुछल्ले बल्लेबाज बचे हैं और उन पर अभी 117 रनों की बढ़त है. टेस्ट मैच में अभी दो दिन का खेल बाकि है. ऐसे में मैच के चौथे दिन अगर टीम इंडिया ने अपनी साख के मुताबिक प्रदर्शन किया तो मेहमानों को मुश्किल होने वाली है. उसके सामने सबसे बड़ा संकट ये है कि उसे चौथी पारी में बल्लेबाजी करनी है. चौथी पारी में तीन सौ रनों से ऊपर का कोई भी स्कोर उसके लिए मुश्किल खड़ी करेगा.

मैच के तीसरे दिन जिस तरह से अश्विन की गेंद टर्न हुई. उसके बाद मैच के पांचवें दिन अश्विन की विराट के लिए तुरुप का इक्का होंगे..
मैच के तीसरे दिन दक्षिण अफ्रीका की तरफ से डीन एल्गर और क्विंटन डी कॉक ने जबरदस्त संघर्ष दिखाया। इन दोनों बल्लेबाजों ने अपने अपने शतक लगाए. इन दोनों के शतकों की बदौलत ही दक्षिण अफ्रीका की टीम इस टेस्ट मैच में अभी बेहतर स्थिति में दिख रही है. दक्षिण अफ्रीका का स्कोर फिलहाल 8 विकेट पर 385 रन है.

एल्गर की शतकीय पारी से मजबूत हुए मेहमान
दक्षिण अफ्रीका की ओर से डीन एल्गर ने शानदार शतक लगाया. एल्गर, भारतीय गेंदबाजों के सामने दीवार बनकर खड़े हो गए. उन्होंने 160 रनों की पारी खेली, जिसमें उन्होंने 18 चौके और 4 छक्के लगाए. एल्गर का ये टेस्ट क्रिकेट में 12वां शतक है. फाफ डू प्लेसिस और एल्गर के बीच 115 रनों की साझेदारी हुई.

क्विंटन डी कॉक ने भी जमाया शतक
दक्षिण अफ्रीका की ओर से एल्गर के साथ क्विंटन डी कॉक ने भी शतक लगाया. डी कॉक और एल्गर की पारी की बदौलत दक्षिण अफ्रीका भारत के विशाल स्कोर का मुकाबला करने में काफी हद तक सफल रहा है. क्विंटन डी कॉक ने 111 रनों की पारी खेली जिसमें 16 चौके और 2 छक्के शामिल थे. क्विंटन डी-कॉक का ये टेस्ट क्रिकेट में 5वां शतक है.

आर.अश्विन ने फिर दिखाया फिरकी का जादू
इस टेस्ट मैच में अब भी भारत के जिस गेंदबाज से सबसे ज्यादा उम्मीदें रहेंगी वो हैं आर अश्विन। करीब 11 महीने बाद टेस्ट मैच खेल रहे आर अश्विन ने अभी तक पांच विकेट लिए हैं. अभी अफ्रीका के दो पुछल्ले बल्लेबाज बचे हैं. इसके अलावा टेस्ट मैच की चौथी पारी में जब अफ्रीकी बल्लेबाज दोबारा आएंगे तो अश्विन का रोल अहम रहने वाला है.

इस टेस्ट मैच में अब तक दक्षिण अफ्रीका की आधी टीम को अकेले आर अश्विन ने ही पवेलियन भेजा है. अश्विन ने आज खेल के तीसरे दिन तीन और विकेट झटके. अश्विन ने खेल के दूसरे दिन दो विकेट लिए थे. टेस्ट क्रिकेट में सिर्फ 18 मैचों में 100 विकेट लेने वाले अश्विन अब एक और नए कीर्तिमान के करीब हैं. टेस्ट क्रिकेट में 350 विकेट से वो अब सिर्फ तीन विकेट दूर हैं. अपना 66वां टेस्ट खेल रहे अश्विन के नाम सबसे तेज 250 और 300 विकेट लेने का भी रिकॉर्ड दर्ज है.

भारतीय फील्डर्स ने किया निराश
भारत के पास इस वक्त 117 रन की बढ़त है. लेकिन ये लीड 200 रन से ज्यादा की हो सकती थी अगर भारतीय फील्डर मैदान पर थोड़ी मुस्तैदी दिखाते. अफ्रीकी बल्लेबाज डीन एल्गर को सातवें ही ओवर में रनआउट करने का मौका हाथ आया था. लेकिन पुजारा निशाना चूक गए. इसके बाद 46वें ओवर की दूसरी गेंद पर अल्गर को जीवनदान तब मिला जब साहा ने उनका कैप ड्रॉप किया. बाद में एल्गर ने 160 रन की बड़ी पारी खेली. यही नहीं इस बीच रोहित, रहाणे और विहारी से भी कैच छूटे. भारतीय टीम के फील्डर्स मुस्तैद होते तो निश्चित तौर पर अभी तक अफ्रीकी टीम की बल्लेबाजी खत्म हो चुकी होती.