बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय बोले, मोदी जैसा होना चाहिए राष्ट्रभक्ति का नशा

बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, ड्रग्स जैसा नशा तो एक बार लेने के बाद उतर जाता है, लेकिन नशा तो राष्ट्रभक्ति का होना चाहिए जो एक बार हो तो कभी उतरे ही नहीं.
kailash vijayvargiya on modi, बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय बोले, मोदी जैसा होना चाहिए राष्ट्रभक्ति का नशा

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय एक बार फिर सुर्खियों में हैं. इस बार इंदौर मैराथन में पहुंचे कैलाश विजयवर्गीय ने नशे को लेकर युवाओं को अलग तरह का मैसेज दिया. कैलाश विजयवर्गीय का कहना है कि नशा होना चाहिए, लेकिन राष्ट्रभक्ति का नशा होना चाहिए ऐसा नशा हो, जैसा नरेंद्र मोदी को है, देशभक्ति का. राष्ट्रभक्ति का नशा हमेशा होना चाहिए.

कैलाश विजयवर्गीय ने इंदौर मैराथन के दौरान युवाओं से बातचीत के दौरान कहा, ‘नशे में तो रहना चाहिए. पर नशा काम का हो. नशा देशभक्ति का हो, जैसे मोदी जी को है. राष्ट्रभक्ति का नशा हमें होना चाहिए. और ऐसा नशा होना चाहिए जो एक बार चढ़े तो उतरे नहीं. ये जितने भी नशे हैं, चाहे वो ड्रग्स का हो, चढ़ने के बाद उतर जाता है. नशा काम का हो, राष्ट्रभक्ति का हो. ऐसा नशा कोई भी ना हो जो चढ़कर उतर जाए.

इससे पहले कैलाश विजयवर्गीय अपने एक अजीबोगरीब बयान के बाद सुर्खियों में आ गए थे. उन्होंने कहा था,  मेरे घर पर मजदूरी कर रहे लोगों के पोहा खाने के स्टाइल से मैं समझ गया कि वह बांग्लादेशी हैं. इस बयान के बाद विजयवर्गीय की सोशल मीडिया पर काफी आलोचना हुई थी. इससे पहले वो अधिकारियों और अफसरों को लेकर भी विवादित बयान दे चुके है. जिसमें कहा गया कि अगर इंदौर में संघ पदाधिकारी नहीं होते तो शहर में आग लगा देता.

ये भी पढ़ें-   

दिल्ली चुनाव: कांग्रेस ने जारी किए दो मैनिफेस्टो, CAA-NRC-NPR को बनाया मुख्य मुद्दा

  लखनऊ में हिंदू नेता की सरेआम हत्या पर सीएम योगी आदित्यनाथ की चुप्पी, एसटीएफ भी करेगी जांच

Related Posts