शाहीन बाग: केजरीवाल से बोले कुमार विश्वास, गुंडे भेजकर बिठाओ तुम और उठाएं दूसरे

शाहीन बाग प्रदर्शन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ट्वीट पर कुमार विश्वास ने पलटवार किया है. हमला बोलते हुए लिखा, 'अपने अमानती-गुंडे को भेजकर बिठाओ तुम और उठाएं दूसरे'

दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले डेढ़ महीने से जारी विरोध-प्रदर्शन से देश की राजनीति गरमाई हुई है. शाहीन बाग की तर्ज पर ही देश के कई हिस्सों में विरोध जारी है. दिल्ली की सत्तारूढ़ पार्टी आम आदमी पार्टी लगातार बीजेपी पर ये कहते हुए हमलावर है कि शाहीन बाग पर गंदी राजनीति हो रही है. वहीं बीजेपी आप पर सवाल खड़े करते हुए पूछ रही है कि आखिर विरोध को शांत कराने के लिए क्यों अरविंद केजरीवाल अभी तक वहां  नहीं पहुंचे.

अब अरविंद केजरीवाल के पूर्व सहयोगी और जाने-माने कवि कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल और आप पर  हमला बोला. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘अपने अमानती-गुंडे को
भेजकर बिठाओ तुम और उठाएं दूसरे? तुम्हारा निर्वीर्य नायब शाहीन बाग के साथ खड़ा हूं, तुम कह रहे हो हटाओ.अपनी हर गैर-मुनासिब सी जहालत के लिए, बारहा तू
जो ये बातों के सिफर तानता है, छल-फरेबों में ढके सच के मसीहा मेरे, हमसे बेहतर तो तुझे, तू भी नहीं जानता है’.

हालांकि इससे पहले अरविंद केजरीवाल ने शाहीन बाग  में प्रदर्शन के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया था. केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा था, कि ‘शाहीन बाग में बंद रास्ते की वजह से लोगों को परेशानी हो रही है. बीजेपी नहीं चाहती कि रास्ते खुलें. बीजेपी गंदी राजनीति कर रही है’. साथ ही  केजरीवाल ने बीजेपी को सलाह देते हुए कहा कि उसके नेताओं को तुरंत  शाहीन बाग जाकर बात करनी चाहिए और रास्ता खुलवाना चाहिए.

शाहीन बाग़ में बंद रास्ते की वजह से लोगों को परेशानी हो रही है। भाजपा नहीं चाहती कि रास्ते खुलें। भाजपा गंदी राजनीति कर रही है। भाजपा के नेताओं को तुरंत शाहीन बाग़ जाकर बात करनी चाहिए और रास्ता खुलवाना चाहिए।

— Arvind Kejriwal (@ArvindKejriwal) January 27, 2020

बता दें  कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक चुनावी बैठक में कहा कि  दिल्ली के चुनाव में बीजेपी के लिए मतदान करने से ‘शाहीन बाग जैसी हजारों घटनाएं’ रुकेंगी.

ये भी पढ़ें-   

शाहीन बाग पर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने तोड़ी चुप्पी, बीजेपी पर यूं फोड़ा ठीकरा

निर्भया गैंगरेप: पीड़िता के दोस्त की गवाही को खारिज करने की याचिका कोर्ट ने ठुकराई