आखिरकार अमित शाह ने खत्‍म किया सस्‍पेंस, बताया एयर स्‍ट्राइक में मरे कितने आतंकी

अमित शाह ने कहा, 'पुलवामा हमले के बाद हर कोई सोच रहा था कि एक और सर्जिकल स्‍ट्राइक नहीं की जा सकती? तो अब क्‍या होगा? उस समय मोदी सरकार ने एयर स्‍ट्राइक की.'

अहमदाबाद: पुलवामा में आतंकी हमले के बाद पाकिस्‍तान में 26 फरवरी 2019 को सुबह साढ़े 3 बजे 12 जब इंडियन एयरफोर्स ने एयर स्‍ट्राइक की, तब मीडिया में 300 से 350 आतंकियों के मारे जाने की खबर सामने आई. हालांकि, सेना या सरकार की ओर से इस बारे में कुछ नहीं कहा गया. यही वजह रही कि हर कोई यही सवाल पूछ रहा था कि आखिर एयर स्‍ट्राइक में कितने आतंकी मारे गए? वैसे सवाल तो सभी पूछ रहे थे, लेकिन जवाब किसी के पास नहीं था. इतने दिनों के सस्‍पेंस के बाद अब बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने इस सवाल का जवाब दिया है. रविवार, 3 मार्च 2019 को गुजरात के अहमदाबाद में अमित शाह ने कहा, ‘पुलवामा हमले के बाद हर कोई सोच रहा था कि एक और सर्जिकल स्‍ट्राइक नहीं की जा सकती? तो अब क्‍या होगा? उस समय मोदी सरकार ने ठीक 13 वेंं दिन एयर स्‍ट्राइक की, जिसमें 250 से ज्‍यादा आतंकी मारे गए.’

अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने आतंकवाद को तनिक भी बर्दाश्त न करने की सरकार की नीति को देश और दुनिया के सामने रखा है. 2016 में हुई सर्जिकल स्ट्राइक के बाद 26 फरवरी को हुई एयर स्ट्राइक इसका उदाहरण है, लेकिन विपक्षी नेता इन कार्रवाइयों को गले से नहीं उतार पा रहे हैं,
अमित शाह ने कहा कि ममता सबूत मांग रही हैं, तो राहुल बाबा कार्रवाई को राजनीतिक चश्मे से देख रहे हैं. अखिलेश यादव जांच की मांग कर रहे हैं. देश को इस तरह के बयानों से शर्म आ रही है और पाकिस्तान इन्हें सुनकर मुस्कुरा रहा है. सुरक्षाबलों के साहस पर सवाल पूछने वाले इन नेताओं की प्रेस कांफ्रेंस पाकिस्तानी हुक्मरानों के बुझे चेहरों पर मुस्कुराहट लाने का काम कर रही है.
अमित शाह ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर निशाना साधते हुए कहा की पहले हमारे देश में मौनी बाबा की सरकार थी, तब सैनिकों का सर कलम कर दिया जाता था. आज हमारे सैनिक F-16 मारकर पाकिस्तान से वापस आ जाते हैं.