SCO की बैठक में पाकिस्तान ने लगाया गलत नक्शा, NSA डोभाल ने विरोध में छोड़ी मीटिंग

शंघाई सहयोग संगठन (Shanghai Cooperation Organization) सदस्य देशों की NSA स्तर की मीटिंग में पाकिस्तान ने एक बार फिर नापाक हरकत की.
Ajit doval, SCO की बैठक में पाकिस्तान ने लगाया गलत नक्शा, NSA डोभाल ने विरोध में छोड़ी मीटिंग

शंघाई सहयोग संगठन (Shanghai Cooperation Organization) सदस्य देशों की NSA स्तर की मीटिंग में पाकिस्तान ने एक बार फिर नापाक हरकत की. शंघाई सहयोग संगठन (SCO) सदस्य देशों की NSA स्तर की मीटिंग में पाकिस्तान की शरारत पूर्ण कार्रवाई से नाराज राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार( National Security Advisor) अजित डोभाल (Ajit Doval) मीटिंग छोड़ चले गए.

दरअसल पाकिस्तान (Pakistan) की तरफ से बैकग्राउंड में गलत नक्शा लगाए जाने की वजह से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल (Ajit Doval) ने शंघाई सहयोग संगठन (SCO) की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) स्तर की वर्चुअल मीटिंग छोड़ दी.

इस पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि ”SCO की बैठक में पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने झूठा मानचित्र दिखाने की कोशिश की. पाकिस्तानी NSA ने SCO गाईडलाइन का उल्लंघन करते हुए बैकग्राउंड में विवादित मैप रखा था. विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह पाकिस्तान की शरारत का एक और नमूना है. पाकिस्तान ने मीटिंग के दौरान SCO गाईडलाइन का उल्लंघन किया है.” भारत ने इसे पाकिस्तान की उकसाने वाली हरकत करार दिया.

पाकिस्तान गलत नक्शे का लगातार कर रहा प्रचार-प्रसार

इस मामले पर भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि ”बैठक में पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने जानबूझकर एक काल्पनिक नक्शा पेश किया. इस नक्शे को पाकिस्तान लगातार प्रचारित-प्रसारित कर रहा है. पाकिस्तान की इस हरकत का विरोध करते हुए भारत ने बैठक छोड़ दी. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने बताया कि इस मीटिंग की अध्यक्षता रूस कर रहा था. उन्होंने कहा, ‘यह मेजबान की ओर से जारी सलाहों की उपेक्षा और बैठक के नियमों का उल्लंघन है.”

बता दें कि हाल ही में इमरान खान सरकार ने 4 अगस्त को पाकिस्तान का नया नक्शा जारी किया था. जिसमें जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और गुजरात के कुछ हिस्सों को शामिल किया गया. पाकिस्तान ने इसे भारत की ओर से जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किए जाने की पहली वर्षगांठ से एक दिन पहले जारी किया था. इसी नक्शे को पाकिस्तान ने एनएसए स्तर की मीटिंग में अपने बैकड्रॉप में लगाया था.

Related Posts