गोडसे को ‘देशभक्‍त’ कहने वाली प्रज्ञा डिफेंस कमेटी से निकाली गईं, अब भी नहीं सुधरी तो होगी बड़ी कार्रवाई

प्रज्ञा ठाकुर ने बुधवार को लोकसभा में बहस के दौरान महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ कहा था.

मध्य प्रदेश के भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर को रक्षा मंत्रालय की संसदीय कमेटी से बाहर कर दिया गया है. साथ ही बीजेपी ने प्रज्ञा ठाकुर के लोकसभा में गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान से किनारा किया है. सूत्रों के मुताबिक आज की कार्रवाई के बावजूद अगर प्रज्ञा ठाकुर अपने व्यवहार, आचरण में सुधार नहीं करतीं हैं तो पार्टी और बड़ी करवाई कर सकती है.

राजनाथ सिंह ने आज लोकसभा में चल रहे शीतकालीन सत्र के दौरान इस मामले पर कहा कि नाथूराम गोडसे को देशभक्त मानना तो दूर, ऐसे विचार को भी हम खारिज करते हैं. महात्मा गांधी जी की विचारधारा कल भी प्रासंगिक थी आज भी है आगे भी रहेगी.

लोकसभा में क्या हुआ था?

प्रज्ञा ठाकुर ने बुधवार को लोकसभा में बहस के दौरान महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ कह दिया जिसका विपक्षी सांसदों ने पुरजोर विरोध किया था.

स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप बिल पर बहस के दौरान डीएमके सांसद ए राजा ने नाथूराम गोडसे के एक बयान का हवाला देते हुए बताया कि गोडसे ने गांधी को क्यों मारा. इस पर बीच में टोकते हुए प्रज्ञा ठाकुर ने कहा ‘आप एक देशभक्त का उदाहरण नहीं दे सकते.’

ए राजा ने कहा कि गोडसे ने खुद स्वीकार किया कि उसने गांधी की हत्या करने से पहले 32 साल तक उनके लिए मन में असंतोष को पाले रखा था. ए राजा ने कहा कि एक खास फिलॉसफी की वजह से गोडसे ने गांधी को मारा. इस बीच जब प्रज्ञा ठाकुर ने हस्तक्षेप किया तो विपक्षी सांसदों ने विरोध किया जिसके बाद बीजेपी सांसदों ने प्रज्ञा से बैठने को कहा.

हाल ही में रक्षा मंत्रालय की संसदीय सलाहकार समिति में प्रज्ञा ठाकुर को शामिल किया था. इस समिति में कुल 21 सदस्य हैं. इस समिति के प्रमुख रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह हैं. इस समिति में सरकार ने विपक्ष के कई नेताओं को शामिल किया है. अब प्रज्ञा ठाकुर को इस समिति से हटा दिया गया है.

प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर संसद में हंगामा 

आम आदमी पार्टी के राज्य सभा सांसद संजय सिंह  ने लोकसभा में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे गोडसे को देशभक्त बताने पर नियम 267 के तहत राज्यसभा सभापति महोदय को दिया नोटिस, पूर्वनिर्धारित कार्यों को रद्द कराकर नियम 267 के तहत सदन में इस मुद्दे पर चर्चा कराने की मांग रखी.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रज्ञा ठाकुर को आतंकी कहा है. उन्होंने मीडिया से कहा, ”आतंकी प्रज्ञा ने आतंकी गोडसे को देशभक्त कहा है.”

प्रज्ञा ठाकुर ने ट्वीट कर दी सफाई

प्रज्ञा ठाकुर ने ट्वीट कर इस मामले पर सफाई दी है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, कभी-कभी झूठ का बबण्डर इतना गहरा होता है कि दिन मे भी रात लगने लगती है किंतु सूर्य अपना प्रकाश नहीं खोता. पलभर के बबण्डर में लोग भ्रमित न हों सूर्य का प्रकाश स्थाई है. सत्य यही है कि कल मैंने ऊधम सिंह जी का अपमान नहीं सहा बस.