संसद में विपक्ष के हंगामे पर बोले रविशंकर प्रसाद- माहौल ठीक हो जाने के बाद करेंगे दिल्ली हिंसा पर चर्चा

रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad ) ने कहा कि इधर दिल्ली में हालात अभी सामान्य हो रहे हैं. हमें यह भी चिंता रहती है कि संसद की चर्चा दिल्ली का माहौल शांत करेगी या बढ़ाएगी.
Central Minister Ravi Shankar Prasad, संसद में विपक्ष के हंगामे पर बोले रविशंकर प्रसाद- माहौल ठीक हो जाने के बाद करेंगे दिल्ली हिंसा पर चर्चा

दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) के मुद्दे पर कांग्रेस सहित विपक्षी सदस्यों ने लोकसभा में भारी हंगामा किया. संसद में हंगामे और कामकाज ठप्प होने पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad )ने बयान दिया है. उन्होंने कहा कि सरकार चाहती है कि सदन चले. सरकार ये भी चाहती है कि सदन में दिल्ली दंगों पर चर्चा खुलकर हो. बहस के लिए केंद्र सरकार ने 11 मार्च की डेट सोच समझकर तय की गई है.

रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad )ने कहा कि इधर दिल्ली में हालात अभी सामान्य हो रहे हैं. हमें यह भी चिंता रहती है कि संसद की चर्चा दिल्ली का माहौल शांत करेगी या बढ़ाएगी. इसलिए सरकार की ये सोच है कि होली के बाद चर्चा करवाएंगे. तब तक दिल्ली पूरी तरह शांत हो जाएगी.

उन्होंने कहा कि आज (मंगलवार) सुबह स्पीकर की आल पार्टी मीटिंग में जब ये तय हो गया कि कोई भी ट्रेज़री बेंच की तरफ जाकर डिस्टर्ब या हंगामा नहीं करेगा फिर भी विपक्ष की तरफ से कई सीनियर नेता वहां पहुंचे. आखिर क्यों? फिर हंगामा क्यों किया जा रहा है. स्पीकर पर कागज के टुकड़े उछाले जा रहे.

अब कहा जा रहा कि हल्ला में बिल क्यों पास करवाया जा रहा है. वो भूल गए कि 2014 से पहले कितने बिल हंगामा के बीच में पास करवाया गया. जबकि संसदीय कार्यमंत्री ने खुद ही सदन में कहा कि हम 11 मार्च को दिल्ली दंगों पर बहस करेंगे.

हम बताना चाहते हैं कि संसद सिर्फ चर्चा का ही जगह नहीं है, बल्कि सद्भाव का भी है. केंद्र सरकार कांग्रेस और विपक्ष की रवैया से हमें बहुत पीड़ा है. हम अपील करेंगे विपक्ष से संसद चलने दें हम हर चीज पर चर्चा को तैयार है.

विवाद से विश्वास बिल को आज हंगामे के बीच इसलिए पास करना पड़ा क्योंकि 31 मार्च तक 4 लाख केस और उसमें जुड़े 9 लाख करोड़ रुपये के मामले का निस्तारण आवश्यक है. उसे लागू करना आवश्यक है.

Related Posts