सबरीमाला विवाद: मासिक पूजा के लिए फिर खुलेगा मंदिर, प्रशासन ने सचेत रहने के दिए आदेश

नई दिल्ली: मासिक प्रार्थना के लिए केरल में भगवान अयप्पा का सबरीमाला मंदिर मंगलवार को एक बार फिर खुल रहा है. इसे लेकर मंदिर और आसपास के इलाकों में एक बार फिर से तनाव का माहौल बन गया है. हाल ही में संपन्न हुए सालाना तीर्थयात्रा के दौरान महिलाओं के मंदिर में प्रवेश को लेकर […]

नई दिल्ली: मासिक प्रार्थना के लिए केरल में भगवान अयप्पा का सबरीमाला मंदिर मंगलवार को एक बार फिर खुल रहा है. इसे लेकर मंदिर और आसपास के इलाकों में एक बार फिर से तनाव का माहौल बन गया है. हाल ही में संपन्न हुए सालाना तीर्थयात्रा के दौरान महिलाओं के मंदिर में प्रवेश को लेकर यहां व्यापक प्रदर्शन हुए थे. मंदिर अधिकारियों ने सोमवार को कहा कि पहाड़ी पर बना यह मंदिर मासिक पूजा के लिये मंगलवार से 17 फरवरी तक के लिए खुला रहेगा.

प्रशासन ने बढ़ाई सुरक्षा

मंदिर के फिर से खुलने का समय नजदीक आने के साथ ही राज्य पुलिस ने संघ के संगठनों द्वारा परंपरागत रूप से प्रतिबंधित महिलाओं के प्रवेश के खिलाफ संभावित प्रदर्शनों की आशंका के मद्देनजर सतर्कता बढ़ा दी गई है. मंदिर के मुख्य पुजारी वासुदेवन नंपूतिरि मंगलवार शाम मंदिर का गर्भगृह खोलेंगे. मंदिर में इन पांच दिनों के दौरान कई कर्मकांड पूरे किए जाएंगे.

महिलाओं ने किया ये दावा

कई महिलाएं जो 20 जनवरी को समाप्त होने वाली तीर्थयात्रा के दौरान मंदिर में नहीं जा सकी थीं उन्होंने मंदिर में फिर से जाने का ऐलान किया है. उत्तर केरल के कन्नूर जिले की एक शिक्षिका रेशमा निशांथ ने कहा, ‘हम पुलिस के साथ संपर्क में हैं और अगर वे हमारी मदद करते हैं, तो हम इस बार मंदिर में प्रवेश कर लेंगे’.

धारा 144 लगाई गयी

पुलिस ने धारा 144 के तहत जिला प्रशासन को प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की है, सरकारी अधिकारियों के अनुसार स्थिति फिर से अस्थिर हो सकती है. एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि भक्तों और संवाददाताओं को निलक्कल से पंबा और सन्नीधानम जाने की इजाजत 12 फरवरी को सुबह 10 बजे के बाद ही होगी