MP में मामा शिवराज एक बार फिर संभालेंगे CM का पद, रात 9 बजे होगा शपथ ग्रहण

पार्टी सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री (CM) पद के दो बड़े दावेदार थे. एक पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan), और दूसरे केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar), लेकिन ज्यादतर विधायकों की पसंद शिवराज सिंह हैं.
Sources Shivraj singh chouhan cm in mp, MP में मामा शिवराज एक बार फिर संभालेंगे CM का पद, रात 9 बजे होगा शपथ ग्रहण

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में भाजपा (BJP) ने सरकार बनाने की कवायद तेज कर दी है. विधायकों की आज शाम छह बजे पार्टी के प्रदेश कार्यालय में बैठक बुलाई गई है. इस बैठक में पार्टी के नए नेता का चयन होगा और उसके बाद रात 9 बजे राजभवन में शपथ ग्रहण भी हो सकता है.

सूत्रों की मानें तो शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ही मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले सकते हैं.वहीं कोरोना वायरस (Coronavirus) का असर मध्य प्रदेश की राजनीति पर भी देखने को मिला, जिसके चलते दिल्ली से आने वाले BJP के पर्यवेक्षक अब वीडियो कॉफ्रेंसिंग (Video Conferencing) के जरिए विधायकों से बात कर सकते हैं.

पार्टी सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री पद के दो बड़े दावेदार थे. एक पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, और दूसरे केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, लेकिन ज्यादतर विधायकों की पसंद शिवराज सिंह हैं. इसलिए शिवराज के मुख्यमंत्री बनने की संभावना अधिक है.

प्वाइंटर्स में पढ़ें MP Crisis से जुड़ी बड़ी घटनाएं…

  • पिछले कई महीनों से एमपी में चल रही राजनीतिक उठापटक के बीच 9 मार्च को करीब 22 कांग्रेसी विधायक बेंगलुरु पहुंच जाते हैं, इन 22 विधायकों में से 6 कमलनाथ सरकार में मंत्री पद पर थे. ये सभी विधायक सिंधिया खेमे के थे.
  • इस बीच 10 मार्च को ज्योतिरादित्या सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने कांग्रेस से इस्तीफा दिया. इसके एक दिन बाद यानि 11 मार्च को सिंधिया ने बीजेपी का दामन थाम लिया.
  • इसी के साथ 10 मार्च को बीजेपी नेता बेंगलुरु से इन 22 विधायकों का इस्तीफा लाकर विधानसभा स्पीकर एनपी प्रजापति को सौंप देते हैं. बाद में स्पीकर 16 विधायकों का इस्तीफा मंजूर कर लेते हैं.
  • कांग्रेस के 22 विधायकों के बगावत करने और सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस सरकार (Congress Government) अल्पमत में आ गई, और मुख्यमंत्री कमलनाथ (CM Kamal Nath) ने 20 मार्च को पद से इस्तीफा दे दिया. उसके बाद से राज्यपाल के कहने पर कमलनाथ कार्यवाहक मुख्यमंत्री के तौर पर काम कर रहे हैं.
  • वहीं 21 मार्च को सिंधिया समर्थक कांग्रेस के 21 बागी विधायक बीजेपी में शामिल हो जाते हैं.

Related Posts