Pulwama Terrorist Attack, क्‍यों आतंकी बना पुलवामा का हमलावर, पिता ने सुनाई पूरी कहानी
Pulwama Terrorist Attack, क्‍यों आतंकी बना पुलवामा का हमलावर, पिता ने सुनाई पूरी कहानी

क्‍यों आतंकी बना पुलवामा का हमलावर, पिता ने सुनाई पूरी कहानी

Pulwama Terrorist Attack, क्‍यों आतंकी बना पुलवामा का हमलावर, पिता ने सुनाई पूरी कहानी

जम्मू-कश्मीर

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले ने पूरे देश को झकझोर दिया है. इस हमले में 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए हैं, जबकि कई जवान गंभीर रूप से घायल हैं. पूरा देश एक सुर में बदले की बात दोहरा रहा है. देश के कई राज्यों में पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं और सरकार से बदला लेने की बात कह रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ इस हमले को अंजाम देने वाले आत्‍मघाती हमलावर आदिल अहमद डार के पिता गुलाम हसन डार और परिवार के अन्य सदस्यों ने कई खुलासे किए हैं.

जैश ए मोहम्मद आतंकी संगठन के साथ जुड़ गया था
आदिल के पिता गुलाम हसन डार के पिता ने बताया कि वह भी कभी इसी दर्द से गुजरे थे जिससे आज जवानों के परिवार वाले गुजर रहे हैं. यह बात उन्‍होंने समाचार एजेंसी रॉयटर से बातचीत के दौरान कही है. गौरतलब है कि आदिल आतंकी संगठन जैश ए मोहम्‍मद से जुड़ा था. इसी आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्‍मेदारी ली है. इस संगठन का मुखिया पाकिस्‍तान में बैठा मसूद अजहर है.

सुरक्षाबलों को लेकर काफी गुस्‍सा था- पिता गुलाम हसन डार
आदिल के पिता गुलाम हसन डार ने कहा कि वर्ष 2016 में आदिल को स्‍कूल से वापस लौटते समय उसके दोस्‍त के साथ सुरक्षाबलों ने रोक लिया था और उसकी पिटाई लगाई थी. इस बात से आदिल के मन में सुरक्षाबलों को लेकर काफी गुस्‍सा था. उनके मुताबिक आदिल और उसके साथी को सुरक्षाबलों ने पत्‍थरबाजी के आरोप में रोका था. इस घटना के बाद उसने आतंकवादी संगठन को ज्‍वाइन करने का मन बनाया था.

पैर में पैलेट गन लगने के बाद ही उसका मन कट्टरपंथ की ओर गया
उनके अंकल राशिद ने कहा कि उन लोगों ने कभी नहीं सोचा था कि आदिल इतना कट्टर उग्रवादी बन जाएगा. उसे पूरी कुरान याद थी और धर्म की ओर उसका झुकाव बढ़ने लगा था. हालांकि, राशिद का कहना है कि 2016 में बुरहान वानी की मौत के बाद पत्थरबाजी के दौरान उसके पैर में पेलेट गन की गोली लग गई थी. शायद उसके बाद ही वह कट्टरपंथी हो गया था.

नहीं पता था आदिल ऐसा कर जाएगा- पिता
आदिल के मां-बाप का कहना है कि वह सीआरपीएफ के काफिले पर होने वाले हमले के बारे में पहले से नहीं जानते थे. आदिल के पिता का कहना है कि पिछले वर्ष 19 मार्च को आदिल काम से घर नहीं लौटा था. इसके बाद परिजनों ने उसको करीब तीन माह तक तलाश किया था. काफी मुश्किलों के बाद वह मिला तो वह उसको वापस घर लाने में सफल हो सके थे. सीआरपीएफ के काफिले में हुए इस आत्मघाती हमले में आदिल के परखच्‍चे उड़ गए थे. घटनास्‍थल पर उसके हाथ के अलावा कुछ और नहीं था.

Pulwama Terrorist Attack, क्‍यों आतंकी बना पुलवामा का हमलावर, पिता ने सुनाई पूरी कहानी
Pulwama Terrorist Attack, क्‍यों आतंकी बना पुलवामा का हमलावर, पिता ने सुनाई पूरी कहानी

Related Posts

Pulwama Terrorist Attack, क्‍यों आतंकी बना पुलवामा का हमलावर, पिता ने सुनाई पूरी कहानी
Pulwama Terrorist Attack, क्‍यों आतंकी बना पुलवामा का हमलावर, पिता ने सुनाई पूरी कहानी